बड़ी बहन मीसा भारती से राखी बंधवाने के बाद पैर छूकर आशीर्वाद लेते हुये तेज प्रताप, राखी बंधवाते तेजस्वी यादव। Image Source : tweeted by @TejYadav14 and @yadavtejashwi

पावन पर्व रक्षाबंधन पर दिल मिले न मिले, चेहरे मुस्कुराते मिले, तेजस्वी और तेज प्रताप बहनों से घिरे

New Delhi : राष्ट्रीय जनता दल में आंतरिक हंगामे और खींचतान के बीच पार्टी सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव के दोनों बेटों तेजप्रताप यादव और तेजस्वी यादव ने सोशल मीडिया पर अपनी बहनों से राखी बंधवाते हुये तस्वीरें शेयर की हैं। लालू के बड़े लाल तेज प्रताप ने ट्वीट कर लिखा है – याद है हमे हमारा वो बचपन, वो लड़ना, वो झगड़ना और वो मना लेना, यही होता है भाई-बहन का प्यार और इस प्यार को बढ़ाने आ रहा है रक्षाबंधन का त्‍योहार। तेज प्रताप ने बहन मीसा का चरण स्पर्श करते तस्वीरें शेयर की। वहीं तेजस्वी ने अपने पोस्ट में लिखा है- भाई बहन के अटूट प्रेम, असीम विश्वास और आदर के पावन पर्व रक्षाबंधन की ढेरों शुभकामनाएं! आइये इस पवित्र पर्व पर हम सभी बहनों, बेटियों और माता तुल्य महिलाओं के सम्मान और सुरक्षा का प्रण लें।

शनिवार की देर शाम राजद विधायक तेज प्रताप यादव ने नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव के करीबी माने जाने वाले संजय यादव पर उनकी हत्या की साजिश रचने का आरोप लगाया था। मीडिया से बात करते हुये राजद अध्यक्ष लालू प्रसाद के बड़े बेटे तेज प्रताप ने संजय यादव पर आरोप लगाया था कि उनके कहने पर मेरे तीनों अंगरक्षक मोबाइल बंद करके गायब हो गये हैं, जबकि सबको पता है कि मुझे सड़क मार्ग से दिल्ली जाना है। अब मेरी जान को खतरा हो गया है। संजय यादव पर तेज प्रताप के इस आरोप को तेजस्वी को घेरने की कोशिश के तौर पर देखा जा रहा है। छात्र राजद के प्रदेश अध्यक्ष आकाश यादव को हटाये जाने से नाराज तेज प्रताप ने प्रदेश राजद अध्यक्ष जगदानंद सिंह और संजय यादव पर निशाना साधा है। तेज प्रताप संजय यादव को प्रवासी सलाहकार बता रहे हैं।
उन्होंने यहां तक ​​कहा कि संजय यादव दोनों भाइयों के बीच विवाद पैदा करना चाहते हैं। इतना ही नहीं तेजप्रताप ने संजय यादव पर दिल्ली में मॉल बनाने का भी आरोप लगाया है। इसके साथ ही तेजस्वी को बालक, जगदानंद सिंह को महाभारत का ‘शिशुपाल’ और संजय यादव को ‘दुर्योधन’ बता दिया।
रक्षाबंधन के मौके पर बहनों को राखी बांधने पटना से दिल्ली जाने से पहले तेज प्रताप का रवैया बदल गया। शुक्रवार को नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव के दिल्ली दौरे पर सवाल उठाने वाले तेज प्रताप ने अपने छोटे भाई से अटूट रिश्ते का जिक्र किया। उन्होंने ट्वीट कर कहा कि कोई कितना भी षडयंत्र कर ले, वह कृष्ण-अर्जुन की जोड़ी को नहीं तोड़ पायेगा। तेज प्रताप खुद को कृष्णा और तेजस्वी यादव को अर्जुन बताते हैं। तेज प्रताप ने अपने आधिकारिक ट्विटर अकाउंट पर तेजस्वी यादव की ताज पहने एक पुरानी तस्वीर भी शेयर की।
वहीं, शनिवार को लालू प्रसाद के विश्वासपात्र बताये जाने वाले राजद विधान पार्षद सुनील सिंह दिल्ली जाने से पहले तेज प्रताप से मिलने गये थे। बैठक के बाद सुनील सिंह ने फेसबुक पर लालू प्रसाद की तस्वीर तेज प्रताप को सौंपते हुए एक तस्वीर साझा की। साथ ही लिखा कि जो सपना जदयू और बीजेपी ने पाला था, वह मुंगेरीलाल का खूबसूरत सपना साबित होगा। दावा किया कि दोनों भाइयों के बीच कोई मनमुटाव नहीं है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *