प्रतीकात्मक तस्वीर। Image Source : file photo/livebihar/vishal kumar

पटना में पेट्रोल 110.19 रुपये तो किशनगंज में 112.45 रुपये लीटर, डीजल 104.09 रुपये लीटर

New Delhi : पेट्रोल और डीजल की कीमतों में 35 पैसे की बढ़ोतरी के बाद 21 अक्टूबर गुरुवार को दरें नई ऊंचाई पर पहुंच गईं हैं। दिल्ली में पेट्रोल की कीमत 35 पैसे बढ़कर 106.54 रुपये पर पहुंच गई, जबकि डीजल की कीमत भी 35 पैसे बढ़कर 95.27 रुपये पर पहुंच गई। मुंबई में पेट्रोल की कीमत 112.44 रुपये है जबकि डीजल की कीमत 103.26 रुपये है।

बिहार में पेट्रोल और डीजल की कीमत आसमान छू रही है। पटना में जहां आज पेट्रोल 110.19 रुपये प्रति लीटर है वहीं अररिया जिले में 112.33 रुपये तो किशनगंज में 112.45 रुपये प्रति लीटर है। डीजल की कीमतें भी बिहार के इन दो जिलों में सर्वाधिक हैं। किशनगंज में डीजल 104.09 रुपये प्रति लीटर, अररिया में डीजल 103.98 रुपये प्रति लीटर हो गया है तो राजधानी पटना में डीजल की कीमत 101.99 रुपये प्रति लीटर हो गया है।

बिहार के अलावा झारखंड में भी डीजल और पेट्रोल की कीमतें आसमान छू रही हैं। हालांकि झारखंड में पेट्रोल और डीजल की कीमतों में कोई फर्क नहीं रह गया है। रांची में पेट्रोल 101.24 रुपये प्रति लीटर है तो डीजल 100.87 रुपये प्रति लीटर है।
दिल्ली में पेट्रोल- 106.54 रुपये प्रति लीटर डीजल- 95.27 रुपये प्रति लीटर तो मुंबई में पेट्रोल- 112.44 रुपये/लीटर और डीजल- 103.26 रुपये/लीटर हो गया है। कोलकाता में पेट्रोल- 107.12 रुपये प्रति लीटर तो डीजल- 98.38 रुपये प्रति लीटर हो गया है। चेन्नई में पेट्रोल- 103.61 रुपये प्रति लीटर डीजल- 99.59 रुपये प्रति लीटर है।
भारत के अधिकांश राज्यों में पेट्रोल की कीमतें पहले ही 100 रुपये को पार कर चुकी हैं। फिलहाल कुछ ही राज्यों में डीजल की कीमतें 100 रुपये से कम हैं। जिन राज्यों में डीजल की कीमतें 100 रुपये को पार कर गई हैं, वे मध्य प्रदेश, राजस्थान, ओडिशा, आंध्र प्रदेश, तेलंगाना, गुजरात, महाराष्ट्र, छत्तीसगढ़, बिहार, झारखंड, केरल, कर्नाटक और लद्दाख हैं।
देश भर में हर दिन ईंधन दरों को संशोधित किया जाता है और तेल कंपनियों द्वारा सुबह 6 बजे प्रकाशित किया जाता है। कच्चे तेल की लागत, रिफाइनरियों के खपत अनुपात और वैट और सरकार द्वारा ईंधन पर लगाए गए करों के कारण ईंधन की कीमतों में उतार-चढ़ाव होता है।

इधर पेट्रोल डीजल की कीमतों की बेतहाशा बढ़ोतरी से महंगाई चरम पर है। खाने पीने की सारी चीजें आसमान पर हैं। अब तो सब्जियों के भाव भी इतने अधिक हो गये हैं कि घरों में दो वक्त का खाना भी अधिकांश आबादी के लिये दूभर हो गया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *