Image Source : screengrab from viral video

मधुबनी के NH227 पर गड‍्ढे ही गड‍्ढ़े- क्या यह जंगलराज की याद दिलाता है?

Patna : केंद्रीय सड़क एवं परिवहन मंत्री नितिन गडकरी ने हाल ही में जब गंगा पर स्टील स्ट्रक्चर ब्रिज के उद‍्घाटन के मौके यह कहा था कि बिहार की सड़कों को दो साल में अमेरिका जैसा कर देंगे तब उन्हें बिलकुल भी उम्मीद नहीं रही होगी कि जल्द ही बिहार से एक करारा जवाब मिलेगा, जिसके बाद पूरी सरकार बगले झांकते फिरेगी।
फिलहाल तो ऐसी ही स्थिति बन गई है। मधुबनी जिले की एक सड़क का ड्रोन वीडियो वायरल हो रहा है। इस एनएच पर हजारों की संख्या में गड‍्ढ़े हैं। बड़े-बड़े। यह वीडियो देखकर हर कोई दंग है। हाल तक जदयू का हिस्सा रहे चुनावी रणनीतिकार प्रशांत किशोर ने तो यहां तक कहा है कि यह सड़क जंगलराज की याद दिलाता है।

प्रशांत किशोर ने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर तंज कसते हुये ट्वीट किया- 90 के दशक के जंगलराज में बिहार में सड़कों की स्थिति की याद दिलाता यह बिहार के मधुबनी जिले का नेशनल हाईवे 227 (L) है। अभी हाल में ही #Nitishkumar जी एक कार्यक्रम में पथ निर्माण विभाग के लोगों को बोल रहे थे कि बिहार में सड़कों की अच्छी स्थिति के बारे में उन्हें सबको बताना चाहिए।

प्रशांत किशोर ने लालू-नीतीश गठबंधन को 2015 का विधानसभा चुनाव जीतने में मदद की थी और औपचारिक रूप से जद (यू) में शामिल हो गए थे। एक राजनीतिक रणनीतिकार के रूप में अपना करियर छोड़ने के बाद, प्रशांत किशोर ने अब परिवर्तनकारी राजनीति के वादे के साथ राजनीतिक क्षेत्र में प्रवेश किया है।
छोटे वाहनों सहित ट्रक व डंपर जैसे बड़े वाहन भी इस सड़क से गुजरते हैं, जिससे हादसों की आशंका बनी रहती है। स्थानीय लोगों का कहना है कि पिछले 7 साल से सड़क की हालत ऐसी ही है, लेकिन किसी को परवाह नहीं है। वहीं, सड़क बनाने वाला ठेकेदार फरार है।

यह स्थिति कलुआही-बासोपट्टी-हरलाखी से गुजरने वाले मुख्य मार्ग की है। ड्रोन से बने इस वीडियो को देख लोग तरह-तरह के कमेंट्स कर रहे हैं। सड़क 2015 से जर्जर हालत में है। इसके निर्माण के लिए अब तक तीन बार टेंडर जारी हो चुके हैं, लेकिन सभी ठेकेदार कुछ दूर जाकर काम छोड़कर भाग गए। इस हाईवे से कई बड़े राजनेता आते-जाते रहे, लेकिन किसी ने इसकी हालत पर ध्यान नहीं दिया। सरकार व विभागीय अधिकारियों ने भी इसकी अनदेखी की।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *