छापेमारी की सांकेतिक तस्वीर। Image Source : Live Bihar

पत्नी-बच्चों के नाम प्लॉट ही प्लॉट : करोड़पति इंजीनियर के ठिकानों पर एसयूवी के छापे

Patna : बिहार राज्य पुल निर्माण निगम लिमिटेड के अभियंता अरविंद कुमार के परिसरों में छापेमारी कर विशेष सतर्कता इकाई ने भ्रष्टाचार के आरोप में करोड़ों रुपये की चल-अचल संपत्ति का भंडाफोड़ किया है। इंजीनियर ने जमीन और मकान बनाने में काफी दौलत लगाई है।
एसवीयू ने इंजीनियर के खिलाफ आय से अधिक 1.50 करोड़ रुपये की संपत्ति अर्जित करने का मामला दर्ज कर मंगलवार को सगुना मोड़ स्थित उसके फ्लैट और ब्रिज कंस्ट्रक्शन कॉरपोरेशन के कार्यालय में छापेमारी की। छापेमारी के दौरान इंजीनियर के घर से करीब पांच करोड़ की चल-अचल संपत्ति बरामद हुई है। हालांकि यह सरकारी आंकलन लग रहा है। अगर मार्केट रेट की बात की जाये तो इन जमीन के टुकड़ों की कीमत करोड़ों रुपये में होगी।

कैश और जेवरात के साथ विजिलेंस टीम की एक सांकेतिक तस्वीर। Image Source : Vishal Kumar/ Live Bihar

इंजीनियर ने अपनी पत्नी कंचन कुमार सिन्हा और बेटे लव कुमार के नाम कोरियाचक, फुलवारीशरीफ में एक आवासीय भूखंड खरीद रखा है। कुम्हरार में पत्नी के नाम पर आवासीय प्लॉट है। दानापुर के रुकनपुरा में रामगढ़ कोठी के पीछे एक आवासीय भूखंड पर पत्नी और दो बेटों के नाम पर चार मंजिला मकान बनाया गया है। सगुना मोड़ पर आलीशान फ्लैट खरीदा है।
एसवीयू की चपेट में आये बिहार राज्य पुल निर्माण निगम लिमिटेड के इंजीनियर अरविंद कुमार बिहार सरकार की कई जांच एजेंसियों के रडार पर थे। उसकी आय से अधिक संपत्ति की निगरानी चल रही थी। एसवीयू भी जांच में शामिल था और सूचना की पुष्टि होते ही छापेमारी की गई।
इस तरह बिहार राज्य पुल निर्माण निगम लिमिटेड के पटना के इंजीनियर अरविंद कुमार के आवास एवं कार्यालय में मंगलवार को विशेष निगरानी इकाई (एसवीयू) ने छापेमारी की, जिसमें करोड़ों रुपये के प्लॉट व मकान की जानकारी मिली। सिर्फ पटना में चार जगह जमीन और मकान मिले हैं। यह संपत्ति पत्नी और बेटों के नाम पर बनाई गई है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *