प्रतीकात्मक तस्वीर। Image Source : agencies

प्लस टू स्कूल, कॉलेज और यूनिवर्सिटी कल से खुलेंगे, कोचिंग बंद रहेंगे, मॉल-मल्टीप्लेक्स की बंदी बरकरार

Patna : कोरोना की स्थिति में दिनोंदिन सुधार और मरीजों के कम होने के बाद बिहार सरकार ने अनलॉक-4 में प्लस टू स्कूल और कॉलेज खोलने का निर्णय लिया है। विश्वविद्यालय, सभी कॉलेज, तकनीकी शिक्षण संस्थान तथा 11वीं से 12वीं कक्षा तक के स्कूल 7 जुलाई से खोले जा सकेंगे। शिक्षण संस्थान कुल छात्रों की 50 प्रतिशत की उपस्थिति के साथ ही खोले जा सकेंगे। सभी सरकारी प्रशिक्षण संस्थानों को भी प्रशिक्षुओं की 50 प्रतिशत की उपस्थिति के साथ खोलने का निर्णय लिया गया है। इन संस्थानों को छोड़कर अन्य सभी स्कूल, कोचिंग, ट्रेनिंग और शैक्षणिक संस्थान बंद रहेंगे। लेकिन आयोगों द्वारा नियुक्ति के लिये प्रतियोगिता परीक्षा आयोजित की जा सकेंगी। विश्वविद्यालयों द्वारा किसी भी तरह की परीक्षाएं नहीं ली जायेंगी।

 

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने सोमवार को अनलॉक-4 में दी जाने वाली इन रियायतों की घोषणा की। अनलॉक थ्री की समय सीमा मंगलवार को पूरी हो जायेगी। अनलॉक-4 के नियम 7 जुलाई से 6 अगस्त तक लागू रहेंगे। हालांकि अनलॉक-4 में भी अनलॉक थ्री के कई प्रतिबंध जारी रहेंगे। वैसे बड़ा सवाल यह है कि अब जब स्कूल-कॉलेज खुल रहे हैं तो फिर सरकार कोचिंग संस्थानों को खोलने की रियायत क्यों नहीं दे रही है। हालात यह है कि कोरोना महामारी के चलते पिछले डेढ़ साल से जूझ रहे कोचिंग संस्थानों की आर्थिक हालत खराब हो रही है। देश के दूसरे राज्य तेलंगाना और उत्तर प्रदेश में कोचिंग भी खोले जा चुके हैं। कोचिंग संस्थानों से जुड़े एसोसिएशन ने राज्य सरकार से यहां भी कोचिंग संस्थान खोलने की अनुमति देने की डिमांड की है। कोचिंग सेंटरों का किराया, वेतन और अन्य खर्चों के भुगतान की बड़ी समस्या है।
सभी धार्मिक स्थल आमलोगों के लिये फिलहाल बंद ही रहेंगे। इसके साथ ही सार्वजनिक स्थलों पर किसी भी प्रकार के सरकारी और निजी आयोजन पर रोक जारी रहेगी। सभी सिनेमा हॉल और शॉपिंग मॉल बंद रहेंगे। लेकिन, विवाह समारोह में अब अधिकतम 50 व्यक्तियों की उपस्थिति हो सकेगी। अंतिम संस्कार व श्राद्ध में भी 50 व्यक्ति ही शामिल हो सकेंगे। अभी यह संख्या 25 थी। दुकानों और प्रतिष्ठानों में सभी के लिए हमेशा मास्क पहनना अनिवार्य होगा। काउंटर पर दुकानदार द्वारा कर्मियों एवं आगंतुकों के लिये सेनेटाइजर की व्यवस्था अनिवार्य रूप से की जायेगी। सोशल डिस्टेंसिंग का अनुपालन किया जायेगा। इसके लिये सफेद गोला बनाए जाएंगे। पालन नहीं करने पर जिला प्रशासन द्वारा कार्रवाई की जायेगी।
सभी सरकारी और गैरसरकारी कार्यालय प्रतिदिन सामान्य उपस्थिति के साथ खुलेंगे। सरकारी कार्यालयों में केवल टीका लेने वाले (वैक्सीनेटेड) आगंतुकों के प्रवेश की अनुमति होगी। इस संबंध में कार्यालय के प्रधान आदेश जारी करेंगे। न्यायिक प्रशासन के संबंध में हाईकोर्ट के द्वारा लिया गया निर्णय प्रभावी होगा। व्यावसायिक गतिविधियों का समय पूर्ववत रहेगा। इसके अलावा स्टेडियम और स्पोर्ट्स कांप्लेक्स केवल खिलाड़ियों के अभ्यास के लिये खोले जायेंगे। इन सुविधाओं का उपयोग केवल टीका लेने वाले ही कर सकेंगे। रेस्टोरेंट एवं खाने की दुकानों में बैठने की कुल क्षमता के अधिकतम 50 प्रतिशत उपयोग की अनुमति दी गई है। बाकि प्रतिबंध पहले की तरह प्रभावी रहेंगे। सभी पार्कों और उद्यानों को अभी 6 बजे से दोपहर 12 बजे तक ही खोला जाएगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *