तेजस्वी यादव की फाइल फोटो।

तेजस्वी के राजतिलक की तैयारी : राजद का कार्यकारी अध्यक्ष बना लालू पार्टी की कमान सौंप देंगे

Patna : राष्ट्रीय जनता दल में तेजस्वी यादव के राजतिलक की तैयारी शुरू हो गई है। हालांकि ये पहले से तय था कि वे ही लालू प्रसाद की गद‍्दी संभालेंगे लेकिन अब इसकी विधिवत तैयारी शुरू हो गई है। इसके लिये हर स्तर पर विमर्श हो रहा है। फिलहाल लालू प्रसाद यादव सत्ता स्थानांतरण को आरामदायक बनाने की प्रक्रियाओं में जुटे हैं। तेजस्वी यादव अभी राजद विधायक दल के नेता हैं। इससे पहले जब नीतीश कुमार के साथ सरकार बनी थी उसमें भी तेजस्वी का ओहदा सबसे ऊंचा ही रखा गया था लेकिन तब भी पार्टी की पूरी कमान लालू प्रसाद के हाथ में ही थे। लालू प्रसाद आश्वस्त हो जाना चाहते थे कि पार्टी में तेजस्वी की स्वीकारोक्ति के बाद ही आगे का रास्ता तय किया जाये। अब लालू प्रसाद काफी अस्वस्थ भी रहने लगे हैं और पार्टी के पच्चीसवें स्थापना दिवस कार्यक्रम में लालू प्रसाद ने अपनी आंखों से तेजस्वी प्रसाद के बतौर नेता की स्वीकारोक्ति भी देख ली। सो अब पार्टी कमान तेजस्वी को सौंपने की प्रक्रिया शुरू हो गई है।

राजद अध्यक्ष लालू प्रसाद के स्वास्थ्य को देखते हुए दैनिक कार्यक्रमों से उन्हें मुक्त करने और संगठन को क्रियाशील बनाए रखने के लिए तेजस्वी यादव को कार्यकारी अध्यक्ष बनाया जा सकता है। इसकी घोषणा का अभी समय तो तय नहीं हुआ है, पर लालू प्रसाद के पटना आने पर इसकी घोषणा की जा सकती है। वैसे भी 10 सर्कुलर रोड में लालू प्रसाद को नेताओं और आम लोगों से मुलाकात करने के लिए अलग से विशेष कक्ष की व्यवस्था की जा रही है। राजद के प्रदेश अध्यक्ष जगदानंद अभी दिल्ली में हैं और उन्होंने लालू प्रसाद के समक्ष तेजस्वी को कार्यकारी अध्यक्ष बनाने का प्रस्ताव रखते हुए इस दिशा में जल्द कार्रवाई करने का आग्रह किया है। वर्ष 2017 के राजद के खुले अधिवेशन में जगदानंद ने ही राजद की सरकार बनने पर तेजस्वी यादव को मुख्यमंत्री बनाने का प्रस्ताव तैयार कर लालू प्रसाद की उपस्थिति में सर्वसम्मति से पास कराया था। ऐसे में राजद नेता उम्मीद जता रहे हैं कि तेजस्वी को कार्यकारी अध्यक्ष बनवाने के उनके प्रस्ताव पर भी लालू प्रसाद जल्द निर्णय लेंगे।
तेजस्वी यादव की राजद में बड़ी भूमिका और उन्हें राष्ट्रीय कार्यकारी अध्यक्ष बनाये जाने के सवाल पर जगदानंद ने कहा कि राजद में सब काम समय पर होता है। संगठन जब काम करता है, उसका मतलब है कि हमारी शासन की प्रक्रिया में ऊर्जावान व्यक्ति बैठा है। बिहार के भविष्य का नेतृत्वकर्ता तेजस्वी ही हैं। उन्होंने कहा कि हर काम का एक समय होता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *