सौरभ कुमार और उसके लिये बिलखती मां। Image Source : Agencies

प्यार की सजा : प्रेमी को बांधकर पीटा, प्राइवेट पार्ट काटा, मौत के बाद लड़की के गेट पर अंतिम संस्कार

Patna : मुजफ्फरपुर की एक दर्दनाक घटना ने पूरे जिले में तनाव पैदा कर दिया है। वैसे तो यह खबर अवसाद की है, लेकिन इसमें घृणा का पुट इतना ज्यादा है कि इंसानियत के नाम से नफरत होती है। यह घटना है प्यार के नाकाम होने की। एक प्रेमी जो छिपकर रात में अपनी प्रेमिका से मिलने गया था उसके साथ हुई अमानवीय कृत्य की की। और इस कृत्य से उपजे आक्रोश की। घटना में प्रेमी सौरभ को लड़की के घरवालों ने लोहे के रॉड से पीटा। फिर उसका प्राइवेट पार्ट काट दिया। मरणासन्न हालात में उसे हॉस्पिटल में भर्ती कराया और उसके घरवालों को सूचना देकर फरार हो गये। सौरभ इस अमानवीयता को बर्दाश्त न कर सका। चल बसा। आज आक्रोश में लोगों ने उसका अंतिम संस्कार प्रेमिका के घर के गेट के सामने ही कर दिया। सैकड़ों की भीड़ ने घर को घेर लिया। सूचना मिलने पर छह थानों की पुलिस पहुंची तो लेकिन बहुत लेट हो चुकी थी।

मुजफ्फरपुर जिले के कांटी थाना क्षेत्र के रेपुरा रामपुर साह निवासी सौरभ कुमार के साथ सोनवर्षा में शुक्रवार की रात यह घटना घटी। घटना से आक्रोशित परिजनों और ग्रामीणों ने शव के साथ देवरिया रोड को जाम किया। मामले में नामजद शिकायत की है। वैसे अंतिम संस्कार के दौरान काफी हंगामा हुआ। लोग सोनबरसा में लड़की के घर के सामने पहुंच गये। वहीं पर जमकर नारेबाजी की और सड़क जाम कर दिया। लड़की के परिवारवाले घर में बंद हो गये। सूचना पर कांटी के साथ 6 थानों की पुलिस मौके पर पहुंची और भीड़ को काबू किया। तब तक युवक की चिता जल चुकी थी।
22 साल का सौरभ कुमार शुक्रवार देर रात सोनबरसा गांव में रहने वाली अपनी प्रेमिका से मिलने उसके घर गया था। इसी दौरान लड़की के परिवार ने उसे पकड़ लिया। आरोपियों ने उसे लोहे की रॉड से पीटा। प्राइवेट पार्ट को भी काट दिया। पुलिस ने लोगों को शांत कराया और लड़की के घर पर जवान तैनात कर दिये। पूरे इलाके में तनाव कायम है।
सौरभ के पिता मनीष कुमार ने पुलिस को बताया कि शुक्रवार की शाम फोन करके सौरभ को सोनबरसा में आरोपितों ने बुलाया था। सौरभ का शव शनिवार दोपहर तीन बजे रेपूरा पहुंचा। दोनों के बीच करीब चार साल से प्रेम प्रसंग चल रहा था। सौरभ के पिता ने बताया कि आरोपितों ने एक साल पूर्व भी पुत्र के साथ मारपीट की थी। बेरहमी से पिटाई करते हुये सौरभ के नाखून उखाड़ लिये थे। युवती के परिजन सौरभ पर पुत्री को तंग करने का आरोप लगाते रहे हैं। सौरभ से मारपीट के मामले को दोनों पक्ष ने आपस में सुलह समझौता कर सुलझा लिया था। इसके बाद सौरभ उड़ीसा चला गया। वहीं एक निजी कंपनी में काम करने लगा। सौरभ के पिता मनीष कुमार ऑटो रिक्शा चलाते हैं। इसी महीने आठ जुलाई को सौरभ की बहन की शादी हुई थी। सौरभ मनीष कुमार का इकलौता पुत्र था।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *