Image Source : Photo is tweeted by @nerailwaygkp

रेलवे 1 अक्टूबर से ट्रेन के नंबरों से ‘शून्य’ हटायेगा, ट्रेन के किराये में होगा बदलाव, कम होने के संकेत

New Delhi : धीरे-धीरे कोरोना इम्पैक्ट के समाप्त होने और देश के अनलॉक होने की प्रक्रिया के बीच भारतीस रेलवे ने भी कुछ बड़े बदलाव की तस्दीक की है। भारतीय रेलवे ने कोरोना से पहसे संचालित उचित सेवाओं को फिर से शुरू करने का निर्णय लिया है। ये सेवाएं पिछले वर्ष से कोरोनावायरस महामारी के कारण अस्थायी रूप से बंद थीं। इसके साथ ही प्रशासन ने ट्रेन के नंबरों से ‘जीरो’ हटाने का फैसला किया है। ट्रेनों से यात्रा करने वाले यात्रियों के लिये यह एक बेहद अच्छी खबर भी है कि रेलवे में किराया नीति अब पटरी पर आने वाली है। यानी कोरोना काल में ट्रेनों के किराये जो बढ़ाये गये थे वे फिर से पटरी पर लौट रहे हैं। अस्थायी रूप से बंद होने के बाद से ट्रेनों की समय सारिणी लगभग दो साल से अटकी हुई है। प्रशासन ने 1 अक्टूबर से नई समय सारिणी जारी करने का फैसला किया है।

ट्रेन के नंबरों से जीरो हटने से ट्रेनों का किराया भी कम हो जायेगा। रिपोर्टों के अनुसार, ट्रेनें अपने पुराने सामान्य किराये के आधार पर चलेंगी। रेलवे प्रशासन ने नये कार्य समय सारिणी को लेकर तैयारियां शुरू कर दी हैं। भले ही कोई खास मौका न हो, लेकिन रेलवे ने कुछ स्पेशल ट्रेनों का किराया अपने तरीके से तय किया है। जबकि चुनिंदा ट्रेनों का किराया पहले जैसा ही सामान्य है।
भारतीय रेलवे को महामारी के दौरान काफी नुकसान हुआ है और उम्मीद है कि फिर से शुरू होने वाली सेवाओं के साथ रेलवे पटरी पर आ जायेगी। रेलवे को मार्च 2020 में बंद कर दिया गया था जब भारत COVID-19 महामारी की पहली लहर की चपेट में आ गया था। प्रवासी श्रमिकों के लिये तीन महीने की लॉकडाउन अवधि के दौरान जल्द से जल्द अपने गंतव्य तक पहुंचाने के लिये बाद में कुछ शर्तों के साथ कुछ ट्रेनों का संचालन शुरू किया गया था। (Input : www.livebavaal.com)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *