एयरपोर्ट के रनवे पर खड़ा विमान। Image Source : Screengrab/ANI

जल्द शुरू हो सकता है रक्सौल हवाई अड्डा, एयरपोर्ट अथॉरिटी ऑफ इंडिया ने जताई संभावना

पटना: बिहार में एयरपोर्ट की संख्या में बहुत जल्द वृद्धि होने वाली है। पहले सिर्फ एक पटना एयरपोर्ट था। लंबी मांग के बाद 2020 में दरभंगा एयरपोर्ट चालू हुआ। पटना में ही बिहटा एयरपोर्ट बनने वाला है। इसके बाद अब रक्सौल स्थित एयरपोर्ट को एक्टिव करने की कवायद तेज हो गई है। शहर के एयरपोर्ट से विमानों की उड़ाने शुरू करने को लेकर एयरपोर्ट अथॉरिटी ऑफ इंडिया ने संभावना जताई है। बता दें हाल में विधायक प्रमोद कुमार सिन्हा ने विधानसभा सत्र में इस एयरपोर्ट को फंक्शनल बनाने की मांग की थी। इसके साथ ही एयरपोर्ट अथॉरिटी ऑफ इंडिया को पत्र भी भेजा गया था। इस संबंध में चार मार्च को बताया गया कि निकटतम भविष्य में किसी भी एयरलाइन द्वारा रक्सौल को जोड़ने वाले मार्गों के लिए बोली लगाकर उस पर क्षेत्रीय कनेक्टिविटी स्कीम के प्रावधानों के मुताबिक विचार किया जाएगा। दरअसल, रक्सौल एयरपोर्ट क्षेत्रीय कनेक्टिविटी स्कीम यानी आरसीएस दस्तावेज में असेवित एयरपोर्ट की सूची में शामिल है। किसी भी एयरलाइन ने इस एयरपोर्ट से आरसीएस उड़ान चलाने का प्रस्ताव अब तक नहीं दिया है। यह भी बताया गया कि आरसीएस उड़ान के तहत एसएओ को वैध बोली और अवॉर्ड के जरिए असेवित और कम सेवा वाले हवाई अड्डों का पुनरुद्धार किया जाएगा।

रक्सौल एयरपोर्ट।

पीएमओ को तीन बार भेजी गई है एयरपोर्ट की स्टेटस
प्रधानमंत्री कार्यालय यानी पीएमओ को रक्सौल एयरपोर्ट का स्टेटस अब तक तीन बार भेजा गया है। नागर विमानन मंत्रालय के राज्यमंत्री जनरल डॉ.वीके सिंह की राय भी एयरपोर्ट को फंक्शनल बनाने के लिए पॉजिटिव है। उन्होंने पिछले सात 17 अगस्त को एक भेजकर जिला प्रशासन को कहा था कि हमारा प्रयास है कि रक्सौल एयरपोर्ट को क्रियाशील बनाया जाए। हालांकि इसमें कुछ समय लगेगा। उन्होंने यह भी कहा था कि कई एयरलाइंस कंपनी यहां से सेवा शुरू करने में रुचि दिखा रहे हैं। इसी कड़ी में पीएम पैकेज बिहार 2015 में मिले 250 करोड़ रुपए का इस्तेमाल इस एयरपोर्ट को विकसित करने के लिए किया जाएगा। एयरपोर्ट अथॉरिटी ऑफ इंडिया ने 121 एकड़ जमीन अतिरिक्त आवंटित करने की मांग की है। इस दिशा में राज्य सरकार भी प्रयासरत है। जिला प्रशासन द्वारा मुख्यमंत्री से लगातार अपील की जा रही है।


पटना एयरपोर्ट दुनिया के टॉप 333 एयरपोर्ट में 86वें नंबर पर
दुनियाभर के टॉप एयरपोर्ट में पटना एयरपोर्ट की रैंकिंग काफी सुधरी है। लोकनायक जयप्रकाश नारायण अंतर्राष्ट्रीय एयरपोर्ट दुनिया के टॉप 333 एयरपोर्ट में 86वें स्थान पर पहुंच गया है। पहले पटना एयरपोर्ट 333 नंबर पर था। वित्तीय वर्ष 2020-21 में इस एयरपोर्ट की सर्विस रेटिंग 3.72 थी। अप्रैल से जून 2021 में गुणवत्ता रेटिंग 4.48 हो गई। इससे दर्जा 107 तक पहुंच गया। फिर जुलाई से सितंबर 2021 में रेटिंग में 4.54 सुधार हुई और रैंकिंग 86 पहुंच गई। दरअसल, कोरोना संक्रमण का असर पटना एयरपोर्ट पर पड़ा। वित्तीय वर्ष 2019-20 की तुलना में 2020-21 में उड़ानों और यात्रियों की संख्या में कमी दर्ज हुई है। वित्तीय वर्ष 2021-21 में 23579 फ्लाईट का आवागमन हुआ। एक साल पहले 35145 फ्लाईट का आवागमन हुआ था। 27 लाख से अधिक यात्रियों का आवागमन हुआ था। पिछले साल यह संख्या 45.24 लाख थी। यात्रियों के अलावा 11.74 हजार टन माल ढुलाई भी हुई। पिछले साल यह 12.25 लाख थी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *