Image Source : Instagram/flywithmonicaa/

मोनिका को सलाम- पायलट जिसने जलते विमान की सेफ लैंडिंग कर 185 की जान बचाई

Patna : 185 यात्रियों के साथ पटना-दिल्ली स्पाइसजेट के विमान के पंख में आग लगने के बाद पटना में आपातकालीन लैंडिंग के एक दिन बाद, स्पाइसजेट के चीफ ऑफ फ्लाइट ऑपरेशंस ने सभी यात्रियों से अपने पायलटों पर गर्व और उन पर विश्वास कर की अपील की। कहा- वे ‘अच्छी तरह से प्रशिक्षित’ हैं।
इस बीच पटना-दिल्ली स्पाइसजेट बोइंग 737 की पायलट, कैप्टन मोनिका खन्ना अपनी होशियारी और बहादुरी से सुर्खियां बटोर रही हैं। उन्होंने पटना से उड़ान भरने के तुरंत बाद विमान के एक इंजन में आग लगने के बाद 185 यात्रियों के साथ दिल्ली जाने वाली उड़ान ने पटना हवाई अड्डे पर आपातकालीन लैंडिंग की।

पायलट इन कमांड कैप्टन मोनिका खन्ना ने प्रभावित इंजन को बंद कर दिया और इस आपातकालीन लैंडिंग में सवार सभी लोगों के साथ पटना हवाई अड्डे पर सुरक्षित लैंड किया। सभी यात्रियों को सुरक्षित निकाल लिया गया और किसी के हताहत होने की खबर नहीं है। स्थानीय लोगों द्वारा जमीन पर शूट किए गए वीडियो में स्पाइसजेट बोइंग 737 के बाएं इंजन से निकलने वाली चिंगारी दिखाई दे रही है।
स्पाइसजेट के उड़ान प्रमुख गुरचरण अरोड़ा ने कहा- कप्तान मोनिका खन्ना और प्रथम अधिकारी बलप्रीत सिंह भाटिया ने घटना के दौरान खुद को अच्छी तरह से संचालित किया। वे पूरे समय शांत रहे और विमान को अच्छी तरह से संभाला। वे अनुभवी अधिकारी हैं और हमें उन पर गर्व है।

विमान के एक इंजन में आग लगने के बाद कैप्टन मोनिका खन्ना ने एटीसी से संवाद कर विमान के बाएं इंजन को बंद करने का फैसला किया। विमान को मानकों के मुताबिक एक चक्कर लगाना था। विमान तेजी से चक्कर लगाकर वापस लौट आया। जब बोइंग 737 वापस उतरा तो केवल एक इंजन काम कर रहा था।
रविवार को स्पाइसजेट के चीफ ऑफ फ्लाइट ऑपरेशंस गुरुचरण अरोड़ा ने विशेष रूप से एएनआई को बताया- मैं सभी यात्रियों से सभी स्पाइसजेट पायलटों पर विश्वास करने की अपील करता हूं। वे सभी अच्छी तरह से प्रशिक्षित हैं। जिस तरह से स्पाइसजेट के पायलटों ने पटना में स्थिति को संभाला, यह अच्छी तरह से प्रबंधित था और हमारे लिए गर्व की बात है।
कैप्टन अरोड़ा ने एएनआई को बताया- स्पाइसजेट के पास किसी भी घटना से शांतिपूर्वक निपटने के लिए सक्षम और प्रशिक्षित पायलट हैं और इसके लिए सभी यात्रियों को उन पर गर्व होना चाहिए।
अरोड़ा बोले- पंखे का ब्लेड और इंजन पक्षी के टकराने से क्षतिग्रस्त हो गया था। डीजीसीए आगे की जांच करेगा। वे अनुभवी अधिकारी हैं और हमें उन पर गर्व है।
दोनों पायलट उस जांच में शामिल हो गए हैं जो डीजीसीए द्वारा और आंतरिक रूप से स्पाइसजेट द्वारा की जा रही है। इस बीच, उन्हें कंपनी के मानक संचालन प्रक्रियाओं के अनुसार कुछ दिनों के लिए उड़ान संचालन के लिए तैनात नहीं किया जायेगा।

फ्लाइट के लेफ्ट विंग में आग लगने के बाद स्पाइसजेट के विमान को पटना के बिहटा एयरफोर्स स्टेशन पर इमरजेंसी लैंडिंग करनी पड़ी थी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *