बिहार भाजपा के अध्यक्ष संजय जायसवाल। Image Source : twitter

संजय जायसवाल बोले- प्रदेश में शराब का समानान्तर काला कारोबार, पुलिस की मिलीभगत से चल रहा धंधा

Patna : बिहार में जहरीली शराब की घटनाओं ने भाजपा और जदयू की गठबंधन सरकार में ही जहर घोल दिया है। भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष संजय जायसवाल ने साफ कर दिया है कि शराबबंदी कानून की आड़ में धड़ल्ले से शराब का काला कारोबार फैल रहा है। यह समानान्तर बिजनेस का रूप अख्तियार कर चुका है। शराबबंदी कानून की समीक्षा होनी चाहिये। स्थिति विकट हो गई है। पूर्वी चंपारण में अवैध शराब बनाई जा रही है और इसकी सुरक्षा पुलिस कर रही है।
प्रदेश अध्यक्ष ने कहा- जहरीली शराब उन्हीं जगहों पर बनाई जा रही है, जहां शराब बनाने वालों की पुलिस से मिलीभगत नहीं है और इसे गुपचुप तरीके से बनाया जा रहा है। उनके मुताबिक अन्य जगहों से जहरीली शराब के मामले नहीं आ रहे हैं क्योंकि पुलिस के संरक्षण में काफी मात्रा में शराब मिल रही है।

भाजपा प्रदेश अध्यक्ष ने साफ कहा – सरकार द्वारा बहुत अच्छे उद्देश्य के लिये लाये गये इस कानून में कई खामियां हैं। इसे देखने की जरूरत है। जहरीली शराब से मौतें उन राज्यों में भी होती हैं जहां शराबबंदी नहीं है। 5 साल में हमारा कानून कहां पहुंच गया है, इसकी समीक्षा होनी चाहिये।
बिहार में शराबबंदी कानून 2016 से लागू है। इसके बावजूद 3 जिलों में पिछले 4 दिनों में जहरीली शराब पीने से 41 लोगों की मौत हो चुकी है। इसमें समस्तीपुर के 4 मृतक भी शनिवार को शामिल हो गये हैं। वहीं, 6 लोगों की हालत नाजुक है। इनमें से 3 की आंखों की रोशनी चली गई है।
इनमें गोपालगंज के 20, बेतिया के 17 और समस्तीपुर के 4 बीएसएफ व सेना के जवान शामिल हैं। अभी तक पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट नहीं आने के कारण प्रशासन इन्हें संदिग्ध मान रहा है। परिजनों के मुताबिक शराब पीने से उसकी तबीयत बिगड़ गई और उसके बाद उनकी जान चली गई।
इन मामलों के सामने आने के बाद शुक्रवार को ही सीएम नीतीश कुमार ने कहा था कि हम छठ के बाद इस पर समीक्षा बैठक करेंगे। उन्होंने कहा कि जहरीली शराब पीने वाले खुद ही जिम्मेदार हैं। अगर आप गलत काम करेंगे तो ऐसा होगा। इधर जदयू सांसद ललन सिंह ने आज कहा है कि बिहार में शराबबंदी कानून लागू रहेगा। गोपालगंज-बेतिया मामले की जांच की जा रही है। लोगों को पकड़ा जायेगा और दंडित किया जायेगा।

उन्होंने कहा कि हत्या के लिये कानून में मौत की सजा है, लेकिन लोग मारते हैं और उन्हें सजा दी जाती है, फांसी दी जाती है। इसी तरह शराबबंदी कानून तोड़ने वालों को दंडित किया जा रहा है। इन मामलों के सामने आने के बाद नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव भी लगातार बिहार सरकार पर हमला बोल रहे हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *