यह तस्वीर ट‍्विटर पर कई लोगों द्वारा ट‍्वीट की गई है। PHOTO tweeted by Tushar Srivastava

वायरल फोटो का सच- नवादा में 8 साल की लड़की की शादी 28 साल के लड़के से कर दी गई! जांच में बात कुछ और निकली

New Delhi : यह तस्वीर सोशल मीडिया प्लैटफार्म ट‍्विटर पर एकाएक वायरल हो गई है। दर्जनों वेरीफाइड आईडी इस तस्वीर को ट‍्वीट कर रहे हैं और बता रहे हैं कि नवादा में आठ साल की एक बच्ची की शादी 28 साल के युवक से कर दी गई है। इस तस्वीर के अलावा कोई और डिटेल नहीं मिल रही है और न ही कहीं से यह पुष्ट हो रही है। फिल्म प्रोड‍्यूसर और सामाजिक कार्यकर्ता अशोक पंडित ने इस फोटो के साथ बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार और बिहार पुलिस को टैग करते हुए लिखा है- यह फ़िल्म बालिका बधु की तस्वीर नहीं है बल्कि बिहार के नवादा गाँव की है जहां एक माँ बाप अपनी 8 साल की बेटी एक 28 साल के लड़के को सौंप रहे हैं ! मैं @NitishKumar जी और @BiharPoliceCGRC से आग्रह करता हूँ की जल्द से जल्द इस शख्स के ख़िलाफ़ करवायी करे ताकि इस बच्ची की जान बच जाय !

हालांकि देर शाम News 18 bihar/jharkhand ने एक वीडियो डालकर दावा किया कि लड़की 18 साल से बड़ी है। ईटीवी भारत ने तो उस लड़की का आधार कार्ड भी लगाया है और इस दावे की पुष्टि की है कि यह फोटो एक बालिग लड़की की है। हालांकि न्यूज चैनल्स के दावों के बाद भी कोई यह स्वीकार करने को तैयार नहीं कि लड़की बालिग है। हालांकि न्यूज चैनल्स के दावे के बाद अशोक पंडित ने जरूर अपना ट‍्वीट डिलीट कर दिया।

नवादा के जिलाधिकारी यशपाल राणा ने मीडिया से बात करते हुये कहा कि हम इस मामले की जांच कर रहे हैं। शुरुआती जांच में ये बात सामने आई है कि लड़की अपने ननिहाल जो जमुई में है वहीं रहती है और वहीं से शादी हुई है। जमुई जिला प्रशासन और पुलिस प्रशासन को इतला कर दी गई है और वो आगे की जांच कर रहे हैं।

बाद में जनसंपर्क विभाग ने विज्ञप्ति जारी की – प्रशासन को लड़की का आधार कार्ड मिला, जिसपर उनकी जन्‍मतिथि एक जनवरी 2002 दर्ज है। आधार कार्ड की जांच कराई गई। इस हिसाब से लड़की बालिग है।

जी मीडिया के एक पत्रकार तुषार श्रीवास्तव ने ट‍्वीट किया है- बिहार के नवादा की ये मार्मिक तस्वीर अपनी गरीबी को बता रही है, अपनी मजबूरियों को बयां कर रही है कि वो हालात कैसे होंगे कि एक माँ बाप ने अपनी 8 साल की बेटी की शादी एक 28 साल के लड़के से किन परिस्थितियों में कर दी।आजादी के 70 साल बाद भी ऐसी तस्वीर मन को झकझोर कर रख दे रही है।
NSUI के राष्ट्रीय सचिव रोशन लाल बिट‍्टू ने ट‍्वीट किया- मैंने चाइल्ड हेल्पलाइन में कॉल किया है। उम्मीद है कि मामले में जल्द से जल्द कार्रवाई होगी। बहुत सारे ऐसे लोग भी हैं जो इस घटना को पष्ट करने की कोशिश में लगातार ट‍्वीट कर रहे हैं। मुख्यमंत्री, मंत्री, बिहार पुलिस को टैग कर रहे हैं लेकिन जवाब नहीं आ रहा है। जर्नलिस्ट गीतू मोजा ने टॅवीट किया-और हम बात करते हैं सुपरपावर बनने की। जब तक ग्रासरूट पर सुधार नहीं करेंगे, कुछ नहीं होगा।

हालांकि सारे दावे फर्जी निकले। प्रशासन अब यह पता करने में लगा है कि आखिर इस तस्वीर को वायरल करने का मकसद क्या था और इसकी शुरुआत कहां से हुई।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *