Image Source : twitter

शिवानंद बोले- तेज प्रताप राजद में नहीं, खुद छोड़ी पार्टी, उनका अपना संगठन, उन्हें लालटेन के इस्तेमाल से भी रोका गया

Patna : न तो लालू प्रसाद खुद अच्छी तबीययत में हैं और न ही उनकी पार्टी राष्ट्रीय जनता दल। हर रोज यह बात सामने आ ही जाती है कि उनकी पार्टी में सब कुछ ठीक नहीं है। प्रदेश अध्यक्ष जगदानंद पर कई आरोप लगाने के बाद लालू प्रसाद के बड़े बेटे तेज प्रताप ने लंबे समय से पार्टी कार्यालय आना बंद कर दिया है। लालू पर बंधक बनाने का आरोप लगाते हुये उन्होंने पूर्व में भी छोटे भाई तेजस्वी पर निशाना साधा था। अब राजद के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष शिवानंद तिवारी ने तेज प्रताप को लेकर एक बड़ी बात कही है। इस बात से यह तो साफ हो गया है कि पार्टी का एक बड़ा धड़ा यह चाह रहा है कि जल्द से जल्द तेज प्रताप पार्टी से अपनी दूरी बना लें। उन्हें पार्टी से निकालकर सभी पार्टी में शांति चाहते हैं। पर तेज प्रताप इतनी आसानी से यह होने देंगे? यही बड़ा सवाल है।

हाजीपुर स्थित राजद कार्यालय में पत्रकारों से बातचीत के दौरान एक सवाल के जवाब में शिवानंद तिवारी ने कहा कि तेज प्रताप पार्टी में नहीं हैं। कहा कि उन्होंने एक नया संगठन भी बनाया है। शिवानंद ने कहा कि तेज प्रताप यादव खुद राजद से बाहर हो चुके हैं। तेजस्वी के करीबी शिवानंद तिवारी ने कहा कि राजद नेतृत्व ने तेज प्रताप को भी लालटेन का इस्तेमाल करने से मना कर दिया है।
राजद के बड़े नेता तेज प्रताप यादव से लगातार नाराज हैं। इससे पहले राजद के प्रदेश अध्यक्ष जगदानंद सिंह तेज प्रताप से खफा थे। तेज प्रताप ने हाल ही में छात्र जनशक्ति परिषद नाम से एक संगठन का गठन किया है। वे इस संगठन के माध्यम से अपनी राजनीति कर रहे हैं। वह राजद की बैठक से भी दूरी बना रहे हैं। मंगलवार को राजद के प्रशिक्षण शिविर के दौरान भी लालू यादव ने तेज प्रताप को लेकर कोई चर्चा नहीं की।
राजद के पहले प्रशिक्षण शिविर के दौरान लालू प्रसाद यादव ने बिहार के नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव की तारीफ की थी, लेकिन तेज प्रताप के बारे में एक शब्द भी नहीं कहा। उन्होंने कहा था कि तेजस्वी के नेतृत्व में बिहार में राजद का प्रभाव बढ़ा है। तेजस्वी का राजद में बढ़ते कद को देखकर तेज प्रताप भी हैरान हैं। वह कई बार भाई तेजस्वी यादव और राजद के एक बड़े नेता पर गंभीर आरोप लगा चुके हैं।
वैसे हाजीपुर में शिवानंद ने नीतीश कुमार पर भी निशाना साधा और कहा कि उन्हें गांधीजी और लोहिया का नाम लेने का कोई अधिकार नहीं है, क्योंकि नीतीश कुमार ने कई मुद्दों पर चुप्पी साध रखी है। शिवानंद तिवारी ने दावा किया कि कुशेश्वरस्थान और तारापुर विधानसभा उपचुनाव को लेकर उनकी पार्टी के उम्मीदवार की जीत पक्की है। इसके साथ ही उन्होंने कांग्रेस पर जोरदार निशाना साधते हुये कहा कि बिहार में क्षेत्रीय दल मजबूत हैं। ऐसे में कांग्रेस को अपना उम्मीदवार नहीं खड़ा करना चाहिये था।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *