तेज प्रताप के लिए ‘महुआ’ हुआ बेस्वाद, अब स्वाद बदलने की बारी, जानें कहां की तैयारी

पटना
बिहार विधानसभा चुनावों से जुड़ी एक बड़ी खबर इस वक्त सूबे के सियासी तबके से सामने आ रही है। तेजप्रताप के लिए ‘महुआ’ अब बेस्वाद हो गया है। आप किसी और लाइन पर जाएं और पेड़ से टपकने वाले महुए को लेकर दिमाग लगाएं, उससे पहले आपको असल बात बता ही देते हैं। असल में बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री लालू प्रसाद यादव के बड़े बेटे और पूर्व मंत्री तेजप्रताप यादव ने इस बार चुनाव लड़ने के लिए अपनी सीट बदल ली है। तेजप्रताप यादव महुआ से राष्ट्रीय जनता दल के विधायक हैं, मगर इस बार वे महुआ से चुनाव नहीं लड़ने वाले हैं।

यहां से होंगे महागंठबंधन के प्रत्याशी

महुआ से मोहभंग होने के बाद तेजप्रताप यादव अबकी समस्तीपुर जिले की एक सीट से विधानसभा चुनाव लड़ने जा रहे हैं, जिसका नाम हसनपुर है। यहां से तेज प्रताप महागंठबंधन के उम्मीदवार बनने वाले हैं। तेजप्रताप यादव के महुआ विधानसभा सीट छोड़ देने के बाद डॉ मुकेश रंजन को यहां से राष्ट्रीय जनता दल का प्रत्याशी बनाया गया है।

पहले से लगाए जा रहे थे कयास

कई दिनों से ये कयास लगाए जा रहे थे कि तेजप्रताप यादव इस बार महुआ सीट से चुनाव न लड़कर किसी दूसरी सीट का चुनाव करेंगे। कोई कह रहा था कि वे फतुहा से चुनाव लड़ेंगे, तो किसी का कहना था कि वे मनेर से चुनाव लड़ेंगे। हसनपुर सीट को लेकर भी बात चल रही थी।

मानी जा रही सुरक्षित सीट

अंत में तेजप्रताप यादव ने हसनपुर विधानसभा सीट से ही चुनाव लड़ने का निर्णय लिया है। तेजप्रताप यादव के लिए समस्तीपुर जिले की इस विधानसभा सीट को पूरी तरीके से सुरक्षित बताया जा रहा है। हालांकि, यह उनके लिए कितना सुरक्षित रहने वाला है, यह तो चुनावी नतीजे आने के बाद ही पता चल पाएगा। फिलहाल यह ऐलान नहीं किया गया है कि तेजप्रताप यादव किस दिन इस विधानसभा सीट से चुनाव के लिए नामांकन दाखिल करेंगे।

2015 में पहली बार बने थे विधायक

गौरतलब है कि लालू प्रसाद यादव के दोनों बेटों ने पहली बार साल 2015 के चुनाव में जीत दर्ज की थी और विधानसभा में पहुंचे थे। लालू यादव के छोटे बेटे तेजस्वी यादव तो बिहार के उपमुख्यमंत्री भी बन गए थे। वही, तेजप्रताप यादव स्वास्थ्य मंत्री बने थे। चुनाव से ठीक पहले तेजप्रताप यादव के सीट बदलने के बाद राजद के विरोधियों को अब उन पर हमला करने का एक और मुद्दा मिल गया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *