राजद में टिकट के दावेदारों को तेजप्रताप ने सुनाया ‘लालू संदेश’, बता दिया कि किसे मिलेगा टिकट

पटना
पिछले दिनों राजद सुप्रीमो और अपने पिता लालू यादव से मिलकर लौटे तेजप्रताप यादव अचानक खूब सक्रिय दिखने लगे हैं। पहले तो उन्होंने कोविड-19 प्रोटोकॉल तोड़ने पर हुए केस को लेकर झारखंड सरकार पर निशाना साधा, अब अपने कार्यकर्ताओं के बीच सक्रिय हो गए हैं। इसी क्रम में तेजप्रताप राजद कार्यालय भी पहुंचे हैं। बताया जा रहा है कि टिकट की दावेदारी के तौर पर लाइन लगाने वाले नेताओं को तेजप्रताप ने ‘लालू संदेश’ भी सुनाया है। इतना ही नहीं, तेजप्रताप ने यह भी साफ कर दिया है कि आगामी विधानसभा चुनावों में किसे टिकट मिलने जा रहा है।

आप अपनी कल्पनाओं के घोड़े दौड़ाने लगें उससे पहले आपको लालू संदेश के बारे में बता देते हैं। असल में तेजप्रताप ने मुलाकातियों से साफ कहा है कि सुप्रीमो का फरमान जमीनी कार्यकर्ताओं को टिकट देने का है। इतना ही नहीं, उन्होंने यह भी जानकारी दी है कि पार्टी विधानसभा क्षेत्रों में सर्वे करा रही है। इसी सर्वे के आधार पर तय किया जाना है कि टिकट किसे दिया जाएगा और किसे नहीं।

आपको बता दें कि लालू से मुलाकात कर लौटे तेजप्रताप अचानक से राजनीति में काफी एक्टिव नजर आने लगे हैं। एक दिन पहले ही अपने छोटे भाई तेजस्वी के साथ वो अपने सरकारी आवास पर डिनर पर नजर आए थे। शायद डिनर के दौरान लालू संदेश की चर्चा भी हुई हो। इसके अलावा वो नीतीश कुमार सरकार के खिलाफ काफी मुखर भी हो गए हैं। पिछले दिनों रघुवंश प्रसाद सिंह पर बयान देकर तेजप्रताप काफी सुर्खियों में आ गए थे।

हालांकि बाद में उन्होंने रघुवंश प्रसाद सिंह को परिवार का सदस्य बताया था। आपको बता दें कि बिहार की जनता फिलहाल कोरोना और बाढ़ की दोहरी मार से जूझ रही है। लोगों के बीच एक गुस्सा और खीज है। ऐसे में राजनीतिक दल भी लोगों के बीच अपनी-अपनी संवेदनाओं को मजबूती से पहचाने में जुटी हैं। अब ये आने वाला वक्त बताएगा कि ये गुस्सा और खीझ चुनावी बूथ तक पहुंच पाता है या नहीं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *