डॉक्टर राजीव कुमार सिंह अपनी पत्नी खुशबू सिंह के साथ। Image Source : Facebook/askdrrajeev

डॉक्टर को लगता है- मैं सही, खुशबू सही, दुनिया उन्हें बदनाम कर रही, ICU में लेटा जिम ट्रेनर है लुटेरा

Patna : पटना के कदमकुआं में जिम ट्रेनर विक्रम सिंह राजपूत पर ढाई लाख रुपये लेकर गोलियां बरसाईं गईं थीं। उन्हें पांच गोलियां लगीं थी। अभी वे हॉस्पिटल में इलाजरत हैं। इस मामले में तीन शूटरों को पटना पुलिस ने धर दबोचा है। साथ ही इस मामले के मुख्य आरोपी डॉक्टर राजीव कुमार सिंह और उनकी पत्नी खुशबू सिंह को बंदी बना लिया गया है। खुशबू के शूटरों से बात करने के सबूत मिल गये हैं। हालांकि अभी पूरी स्टोरी का खुलासा होना बाकी है लेकिन शुरुआती तौर पर यह बात साफ हो गई है कि खुशबू ने ढाई लाख रुपये देकर शूटरों को इस कांड को अंजाम देने के लिये राजी किया था। ऐसे में पटना पुलिस ने डॉक्टर दंपत्ति को गिरफ्तार कर लिया है। दोनों को फिलहाल पाटलिपुत्र थाने में रखा गया है। पटना पुलिस जल्द ही प्रेस कॉन्फ्रेंस कर मामले का खुलासा कर सकती है।

जिम ट्रेनर के साथ डॉक्टर राजीव की पत्नी खुशबू सिंह


रविवार को हुई घटना से पहले जिम ट्रेनर को जान से मारने की धमकी का ऑडियो सामने आया था। घायल जिम ट्रेनर की पत्नी और रिश्तेदारों का दावा है कि ऑडियो में महिला को धमकी देने वाली महिला खुशबू सिंह है, जो फिजियोथेरेपिस्ट डॉ. राजीव कुमार सिंह की पत्नी है। अगर ऑडियो की वॉयस रिकॉर्डिंग की एफएसएल जांच की जाये तो हकीकत सामने आ जायेगी।
घायल जिम ट्रेनर की पत्नी वर्षा का आरोप है कि ऑडियो में डॉक्टर की पत्नी ने मेरे पति को फोन पर गालियां दी थीं। इतना ही नहीं मेरे पति को धमकी दी जा रही है कि वह आकर उसे मार डालेगा। हालांकि वायरल ऑडियो की पुष्टि नहीं हुई है। टाउन एएसपी अमित रंजन का कहना है कि ऑडियो कई महीने पुराना है। फिर भी जिम ट्रेनर का जो ऑडियो और मोबाइल सामने आया उसकी जांच की जा रही है।
इससे पहले बुधवार को सिटी एसपी अंबरीश राहुल ने कहा था कि पुलिस की जांच अच्छी चल रही है। एसपी ने कहा कि डॉक्टर और उसकी पत्नी से पूछताछ के साथ ही उसके मोबाइल के सभी सीडीआर की तलाशी ली गई है लेकिन अभी तक दोनों के खिलाफ कोई सबूत नहीं मिला है। बिना सबूत के डॉक्टर दंपत्ति को गिरफ्तार नहीं किया जा सकता है।


पटना एसएसपी उपेंद्र शर्मा ने बताया कि जिम ट्रेनर को गोली मारने का ठेका लेने वाले अपराधियों ने पुलिस के सामने ढाई लाख रुपये की सुपारी लेने की बात स्वीकार की है। पटना एसएसपी ने दावा किया है कि पुलिस को डॉक्टर और उसकी पत्नी के खिलाफ अहम सबूत मिले हैं और अब डॉक्टर और उसकी पत्नी का बचना मुश्किल है। इस पूरे मामले में पटना पुलिस ने पहले भी डॉ. राजीव और उनकी पत्नी को हिरासत में लिया था लेकिन बाद में दोनों को पूछताछ के बाद छोड़ दिया गया।

वैसे इस मामले में डॉक्टर राजीव ने सोशल मीडिया पर अपना पक्ष रखा है। लब्बोलुआब यह है कि मैं सही, मेरी पत्नी खुशबू सही, मीडिया बदनाम कर रही और ICU में लेटा जिम ट्रेनर लुटेरा है। हम यहां उनका पूरा पक्ष हूबहू छाप रहे हैं, बिना किसी बदलाव के। इसमें कई भाषाई समस्याएं हैं, लेकिन हमने इसे फिर भी ज्यों का त्यों रखा है। उनका पक्ष कुछ ऐसा है——
नमस्कार….एक 2 दिनों से लगातार मेरे शुभचिंतक लोग मुझे कह रहे है कि सर आप कुछ कह नहीं कह रहे हैं सोशल मीडिया पर कुछ बोल नहीं रहे तो मैं आपको यह बता देना चाहता हूं कि यह पुलिस का इन्वेस्टिगेशन है और वह लोग कर रहे हैं मुझे उन पर पूरा भरोसा है कि वो लोग अच्छा निर्णय लेकर आएंगे रही बात आप लोगों का इतना प्यार इतना सपोर्ट के लिए तो मैं यही कहूंगा कि
कुछ मीडिया हाउसों को जैसे जैकपोट हाथ लग गया है, जैसे ऐसा मसाला मिल गया है कि बस आप TRP बढ़ा ही लेना है। ऐसा मौका दुबारा नही मिलेगा TRP बढ़ाने का.
अब नाम लिया तो जांच तो जरूरी था, पर कुछ मीडिया हाउसों ने इस जांच को गिरफ्तारी बना दी, ये कैसी पत्रकारिता है, ये कैसा trp पाने का नसा। अभी पुलिस नतीजे पर नही पहुची पर कुछ मीडिया हाउसेज नतीजा सुना चुके है। एक डॉक्टर और समाजसेवी का चीरहरण कर चुके है।1100 कॉल ,यह किसी महिला या पुरुष का चरित्र का निर्णय नही करता,लॉक डाउन के समय मैक्सिमम लोग घर मे ही अपना ट्रेनिंग लेते थे या फ़ोन हो या वीडियो कॉल से।9 महीना ट्रेनिंग में 1100 कॉल मतलब 5 कॉल डेली।मेरे घर मे 4 लोग तो 4 बार फ़ोन तो ऐसे ही आएगा।रही बात नजदीकी की तो कोई भी अगर 1 साल से घर आ रहा तो एक फैमिली जैसा रिस्ता हो जाता है।आपके घर कोई नोकरी कर रहा वह क्या सोच के आया है उसके मन मे क्या चल रहा यह कोई कैसे जानेगा की वह आपको सपोर्ट करने आया है या बर्बाद।समय खराब चलता है तो लोग कोई कुछ बोल देता है।फिर समय आएगा फिर एक नया सबेरा होगा।बस मुझे इंतजार है कि कौन मुझे और मेरे परिवार को फसाया ।उसका क्या मनसा था सब सामने आएगा।कुछ लोग प्रेशर देकर मीडिया हाउस से मेरे और मेरे परिवार के चरित्र को खराब कर रहे,महिला समाज को बदनाम कर रहे,कोई महिला क्या सेल्फ डिपेंडेंट नही हो सकती कोई जिम नही कर सकती कोई डांस नही कर सकती कोई टीचर घर नही बुला सकती,इसमे सबसे जाएदा दोसी वह है जो अछे घरो को ट्रैप करता है और पैसा लुटता है।गलती एक साइड से नही होता।मै यही कहूंगा कि
और मसाला लगा लगा कर जनता को गुमराह किया जा रहा, क्योंकि इन कुछ चैनलों को पता है, डॉक्टर नामी है, लोग देखेंगे, trp बढ़ेगा। तो क्या कुछ भी दिखा देंगे, कल क्या जवाब देंगे जब पुलिस की जांच ने कुछ और आएगा??

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *