भाजपा का ये वादा नीतीश पर ही न पड़ जाए भारी, अब तक उड़ा रहे थे तेजस्वी का मजाक

बिहार विधानसभा चुनाव के लिए चुनाव प्रचार अब अपने सबसे दिलचस्प मोड़ पर पहुंचता हुआ नजर आ रहा है। अलग-अलग राजनीतिक दलों की ओर से बड़े-बड़े चुनावी वादे किए जा रहे हैं। इसी क्रम में राष्ट्रीय जनता दल के नेता तेजस्वी यादव ने यह वादा कर दिया था कि यदि सूबे में महागठबंधन की सरकार बनती है तो उनकी सरकार 10 लाख नौकरियां देगी। तेजस्वी यादव के इस दावे पर बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कटाक्ष करते हुए कहा था कि 10 लाख नौकरियां देने की तो बात कुछ लोग जरूर कर रहे हैं, लेकिन इसके लिए वे पैसे कहां से लाएंगे।

भाजपा का वादा

Bihar: Nirmala Sitharaman releases BJP manifesto for Bihar Polls in Patna - बिहार विधानसभा चुनाव: निर्मला सीतारमण ने जारी किया BJP का घोषणा पत्र 1

हालांकि, तेजस्वी यादव पर नीतीश कुमार का यह कटाक्ष अब उन्हीं पर उनके सहयोगी भाजपा की ही वजह से भारी पड़ने जा रहा है। भारतीय जनता पार्टी ने जो चुनाव को लेकर घोषणा पत्र जारी किया है, उसमें पार्टी ने दोबारा सरकार बनने पर 19 लाख नौकरियों का वादा कर दिया है।

तेजस्वी का पलटवार

तेजस्वी यादव का ऐलान: पहली कैबिनेट में देंगे बड़ा तोहफा, युवाओं के लिए है खास

ऐसे में तेजस्वी यादव को पलटवार करने का मौका मिल गया है। तेजस्वी यादव ने अब नीतीश कुमार पर निशाना साधते हुए कहा है कि उन्होंने तो हमसे पूछ लिया कि 10 लाख नौकरियां लाएंगे कहां से। अब वे यह बताएं कि भाजपा 19 लाख नौकरियां कहां से लाने वाली है।

तेजस्वी यादव कैमूर के रामगढ़ में एक चुनावी सभा को संबोधित कर रहे थे। इसी में उन्होंने कहा कि हमारे 10 लाख के रोजगार के वादे पर नीतीश कुमार ने तंज कसना शुरू कर दिया, मगर भाजपा ने जब देखा कि बाजी हाथ से निकलने जा रही है, तो उसने 19 लाख रोजगार देने का वादा कर दिया। तेजस्वी यादव ने कहा कि हमने जो कहा है हम उसे करके दिखाएंगे। एक नया इतिहास लिखा जाएगा। हमारी सरकार बनने के बाद कलम से सबसे पहले यही फैसला निकलेगा।

चिंतित है एनडीए

Sushil Modi tweets Nitish Kumar will remain Captain of NDA in Bihar assembly elections | नीतीश कुमार के लिए सुशील मोदी ने की बैटिंग, कहा- कैप्टन बदलने का सवाल कहां उठता है |

गौरतलब है कि बिहार विधानसभा चुनाव में इस बार तेजस्वी यादव बड़े सक्रिय नजर आ रहे हैं। ग्राउंड रिपोर्ट बता रही है कि उनकी जनसभा में भारी भीड़ भी जुटी रही है, जिसकी वजह से एनडीए के माथे पर चिंता की लकीरें उभरने लगी हैं। तेजस्वी यादव चुनाव प्रचार के दौरान नीतीश कुमार और भाजपा पर जमकर निशाना साध रहे हैं।

तो क्या यहां से लाएंगे पैसे?

Bihar: CM Nitish kumar start changing the mood of people before 2020 assembly election - बिहार: चुनाव से ठीक पहले नीतीश कुमार ने लिए कई अहम फैसले, क्या बचा पाएंगे सीएम की कुर्सी?

नीतीश कुमार भी हालांकि तेजस्वी यादव को निशाना बनाने का कोई मौका नहीं छोड़ रहे हैं। गोपालगंज में एक जनसभा को संबोधित करते हुए नीतीश कुमार ने तेजस्वी यादव के 10 लाख नौकरियों के वादे पर कटाक्ष करते हुए उनसे पूछा था कि क्या वे इसके लिए पैसे लूटे हुए पैसों में से लाएंगे, जिसके लिए उनके पिता जेल की हवा खा रहे हैं। नीतीश कुमार ने तो अपनी जनसभा में यहां तक कह दिया था कि पति-पत्नी ने मिलकर 15 वर्षों तक बिहार को लूटा है। एक वक्त ऐसा था, जब लोग शाम होते-होते अपने घरों में बंद हो जाते थे। नीतीश कुमार अपनी सरकार की उपलब्धियों को भी लगातार गिनाते दिख रहे हैं।

शाहनवाज हुसैन के बाद सुशील मोदी भी हुए कोरोना पॉजिटिव

बिहार भाजपा को उस वक्त बड़ा झटका लगा जब पहले चरण के चुनाव से मुश्किल से 6 दिन पहले उपमुख्यमंत्री सुशील मोदी भी कोरोना पॉजिटिव पाए गए। खुद से ट्वीट करके उन्होंने यह जानकारी दी है। इससे पहले भाजपा नेता शाहनवाज हुसैन भी कोरोना पॉजिटिव पाए गए थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *