टीशर्ट बांट करोड़पति बना बिहार का ये नौजवान, जानें बिजनेस मॉडल

पटना

चेन्नई के नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ फैशन डिजाइनिंग में बिहार के प्रवीण कुमार और हैदराबाद की सिंधुजा पढ़ाई कर रहे थे। हमेशा से चाहते थे कि अपना खुद का बिजनेस शुरू किया जाए। किसी तरीके से 10 लाख रुपये की इन्होंने व्यवस्था की और टी-शर्ट बेचना शुरू कर दिया, जिसका डिजाइन वे खुद कर रहे थे। धीरे-धीरे उन्होंने फ्लिपकार्ट, पेटीएम और अमेज़न जैसी वेबसाइटों के जरिए भी अपने कपड़ों को बेचने की शुरुआत कर दी। फिर इन्होंने अपना खुद का ब्रांड भी बना लिया, जिसका नाम रखा यंग ट्रेंडज। इसके लिए उन्होंने अपनी एक ई-कॉमर्स वेबसाइट भी तैयार कर ली।

जीरो फंडिंग से हजारों ऑर्डर तक

फैशन डिजाइनिंग कर 2 दोस्तों ने बना ली 20 करोड़ टर्नओवर की कम्पनी | Young  Trends Succes -StoryTimes

एक वक्त ऐसा था जब इन लोगों के पास एक रुपये की भी फंडिंग भी नहीं थी, लेकिन कॉलेज खत्म होने से पहले ही इन्होंने अपना काम शुरू कर दिया था। जो टी-शर्ट ये खुद से डिजाइन करते थे, उन्हें कॉलेज में होने वाले इवेंट्स के दौरान फ्री में बांट दिया करते थे। धीरे-धीरे आईआईएम और आईआईटी के लगभग 100 इंस्टिट्यूट के साथ इन्होंने टाईअप कर लिया। अब इन्हें हर दिन लगभग एक हजार और ऑर्डर मिलने शुरू हो गए।

तिरुपुर को बनाया अपना ठिकाना

दो युवाओ प्रवीण कुमार और सिंधुजा (Praveen Kumar & Sindhuja) ने कॉलेज में  शुरू की स्टार्टअप आज है करोड़ो के मालिक उन्होंने 10 लाख रुपये का इंतजाम कर  अपनी ...

तिरुपुर जो कि कपड़ों की मैन्युफैक्चरिंग का एक दक्षिण भारत में बड़ा हब है, इसी को इन्होंने अपना ठिकाना बना लिया। काम चलाने के लिए थोड़ी बहुत तमिल भी इन्होंने सीखी। युवा पीढ़ी को ध्यान में रखते हुए उन्हें कपड़े बनाने थे। इसलिए उन्होंने अपने ब्रांड का नाम यंग ट्रेंडज रख दिया। टैग लाइन भी इन्होंने दी ‘स्टे यंग, लिव ट्रेंडी।’

डेढ़ लाख ब्रांड्स से टक्कर

फैशन डिजाइनिंग कर 2 दोस्तों ने बना ली 20 करोड़ टर्नओवर की कम्पनी | Young  Trends Succes -StoryTimes

सिंधुजा के मुताबिक बाजार में ज्यादातर विदेशी ब्रांड के कपड़े मौजूद होते हैं। ऐसे में उनकी टक्कर लगभग डेढ़ लाख उत्पादों से यहां होती है। फिलहाल तो सबसे ज्यादा मांग उन्हें दिल्ली से मिल रही है। उसके बाद उत्तर भारत के अन्य राज्यों से। प्रवीण के अनुसार कर्नाटक, महाराष्ट्र, तेलंगाना, हरियाणा और तमिलनाडु में इन्होंने अपने वेयरहाउस बना रखे हैं। बहुत जल्द पश्चिम बंगाल में भी वे वेयरहाउस शुरू करने की योजना बना रहे हैं।

सस्ते में क्वालिटी कमाल की

दो युवाओ प्रवीण कुमार और सिंधुजा (Praveen Kumar & Sindhuja) ने कॉलेज में  शुरू की स्टार्टअप आज है करोड़ो के मालिक उन्होंने 10 लाख रुपये का इंतजाम कर  अपनी ...

इनके पास तीन डिजाइनर और फोटोशूट करने के लिए फोटोग्राफर भी मौजूद हैं। चीन और कोरिया में सबसे पहले यंग ट्रेंडज काफी मशहूर हुआ। बहुत ही कम कीमत यानी कि 250 से 600 रुपये में ये अच्छी क्वालिटी के टी-शर्ट बेच रहे हैं। अपनी ई-कॉमर्स वेबसाइट पर इन्होंने लगभग 3500 उत्पादों की रेंज पेश कर दी है। इसके अलावा समय-समय पर ये अच्छी-खासी छूट भी देते रहते हैं। सबसे बड़ी बात है कि बिग बिलियन डेज के दौरान तो सिर्फ 5 दिनों में ही इनके मुताबिक इन्होंने लगभग 25 हजार यूनिट्स बेच डाले थे। इस तरह से इनकी छोटी शुरुआत आज बड़े मुनाफे में बदल गई है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *