पार्ट टाइम खेती से लाखों रुपये कमा रहा बिहार का ये नौजवान, आप भी जानिए

कृषि में लगन और नई तकनीकों के इस्तेमाल से किसान कम से कम जमीन में एक अच्छी फसल उगा कर बड़ा मुनाफा काम सकता है। ऐसा ही कुछ बिहार राज्य के जमुई जिले के एक किसान भाई ने कर दिखाया है। महज एक एकड़ की जमीन में सिकंदरा प्रखंड के बिछवे पंचायत अंतर्गत सरसा टोला के भड़घरा गांव में रहने वाले युवा किसान शैलेन्द्र कुमार सलाना 2 लाख का मुनाफा कमा रहे हैं। कृषि को बेहतर तरीके से करने और नई तकनीकों के इस्तेमाल से शैलेन्द्र क्षेत्र के आसपास के किसानों के लिए मिसाल बन गए हैं।

पार्ट टाइम में करते हैं खेती

मालूम हो शैलेन्द्र अभी पढ़ाई करते हैं। वे आइटीआई के छात्र हैं। कृषि में रुचि होने के कारण वे पढ़ाई के बाद जो समय अतिरिक्त बचता है उसमे खेती करते हैं। वैज्ञानिक विधि से खेती करने के कारण शैलेन्द्र महज एक एकड़ में अपने पार्ट टाइम खेती से ही 2 लाख रुपये तक का मुनाफा कमा लेते हैं।

हरी सब्जियां उगाते हैं शैलेन्द्र

Prices Of Vegetables Are On The Sky, This Is The Price Of Tomatoes And -  सब्जियों के दाम आसमान पर, टमाटर और भिंडी के ये हैं भाव | Patrika News

शैलेन्द्र अपने खेत में हरी सब्जियां उगाते हैं। वे महज एक एकड़ जमीन में ही मूली, मेथी, मिर्च, आलू, प्याज और गोभी की खेती करते हैं। जिसके लिए उन्होनें अपने खेत को 5 हिस्सों में बाँटा हुआ है और उसके हिसाब से ही फसल का चक्र भी तैयार किया है। इसके लिए शैलेन्द्र नें परिवार विकास चाइल्ड फंड इंडिया लछुआड़ के माध्यम से वैज्ञानिकों की सलाह भी ली है।

परंपरागत खेती से हट कर उन्नत खेती शुरू की

शैलेन्द्र का परिवार एक कृषक परिवार है। जिसके कारण बचपन से ही शैलेन्द्र अपने पिता का कृषि संबंधी कार्यों में हाँथ बटाते रहते थे। लेकिन सिंचाई व आधुनिक सुविधाओं की कमी के कारण परंपरागत खेती में पर्याप्त उत्पादन नहीं हो पाता था। जिसके बाद शैलेन्द्र ने खरीफ फसल में धान और रबी फसल में चना-गेहूं जैसे परंपरागत खेती को छोड़ कर साग-सब्जियों की खेती के साथ उन्नत खेती शुरू की। इसके लिए शैलेन्द्र ने परिवार विकास की मदद से बोरिंग करा कर फसलों के सिंचाई की व्यवस्था भी कर ली। अब शैलेन्द्र महज एक एकड़ की जमीन में ही उन्नत खेती कर 2 लाख रुपये सालाना का मुनाफा कमा रहे हैं और साथ ही क्षेत्र के किसानों के लिए एक मिसाल भी बन गए हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *