बिहार में बदली-बदली राजनीति, आज राजद से नामांकन करेंगे छोटे सरकार, सामने है जदयू से ये खिलाड़ी

पटना
बिहार की राजनीति के हाल इस बार बदले-बदले हैं। जातियों के परंपरागत समीकरण इस बार साइड हैं और सारी पार्टियां नए समीकरणों की तरफ देख रही हैं। इसी में राजद अब सवर्ण मतदाओं को भी, खासकर भूमिहार मतदाताओं पर फोकस किए हुए है। इसी क्रम में राजद के लिए इस बार तुरुप का इक्का बन रहे हैं बिहार के छोटे सरकार यानी अनंत सिंह। मोकामा से निर्दलीय विधायक अनंत सिंह बिहार विधानसभा के लिए आज राजद से नामांकन कर सकते हैं। ये बिहा की सियासत का सिर के बल खड़े होने टाइप का काल चल रहा है। इस तरह के नए नए बदलाव देखने को आगे भी मिल सकते हैं।

कभी नीतीश के करीबी थे अनंत सिंह

आपको बता दें कि जनता दल यू के प्रत्याशी राजीव लोचन से अनंत सिंह का मुकाबला आगामी विधानसभा चुनाव में होने जा रहा है। अनंत सिंह के चुनाव मैदान में उतरने की वजह से बिहार की राजनीति में उथल-पुथल तो हो ही गई है। फिलहाल अनंत सिंह पटना के बेउर जेल में सलाखों के पीछे कैद हैं। एक वक्त था जब अनंत सिंह बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के बहुत ही खास और बेहद करीबी हुआ करते थे। वर्ष 2005 से 2014-15 तक अनंत सिंह मोकामा के विधायक भी जदयू के टिकट पर रहे। नीतीश कुमार तब लालू प्रसाद यादव के साथ जा मिले थे। जनता दल यू और राष्ट्रीय जनता दल ने मिलकर कांग्रेस के साथ तब चुनाव लड़ा था।

Bihar police recover AK-47 from independent MLA Anant Singh's home - The  Hindu

तभी वर्ष 2015 में बाढ़ के एक युवक पुट्स यादव के पहले अपहरण की खबर सामने आई और उसके बाद उसकी बॉडी मिली। अनंत का नाम इस प्रकरण में सामने आने लगा, जिसके बाद लालू यादव नाराज हो गए थे। अनंत सिंह पर इसकी गाज गिरी। न केवल उन्हें जदयू से अलग होना पड़ा, बल्कि जेल की हवा भी खानी पड़ी।

निर्दलीय लड़ा चुनाव

फिर भी अनंत सिंह ने चुनाव लड़ने की इच्छा नहीं छोड़ी। निर्दलीय प्रत्याशी के तौर पर उन्होंने मोकामा से विधानसभा चुनाव लड़ा और इसमें उन्होंने जदयू के प्रत्याशी पर भारी अंतर से जीत भी हासिल कर ली। बाद में हालांकि जदयू और राजद के रास्ते अलग हो गए, लेकिन अनंत सिंह ने जेडीयू से अपनी दूरी बरकरार रखी।

Bihar MLA Anant Singh, absconding since August 17, surrenders in Delhi court

अनंत सिंह ने क्या कहा था

अनंत सिंह को कुछ दिनों पहले जब कोर्ट में पेशी के लिए लाया गया था तो उस दौरान उन्होंने यह बताया था कि राजद के टिकट पर इस बार वे विधानसभा का चुनाव तो लड़ेंगे ही, साथ में तेजस्वी यादव को मुख्यमंत्री बनाने में कोई कसर भी बाकी नहीं छोड़ेंगे। आखिरकार मोकामा सीट से राजद ने अनंत सिंह को अपना उम्मीदवार घोषित कर दिया है, जिसके लिए आज वे पर्चा भरने भी जा रहे हैं।

Bihar: Mokama MLA Anant Singh sent to judicial custody for two weeks

एनडीए ने उठाये सवाल

अनंत सिंह को टिकट देने को लेकर एनडीए ने राजद पर सवाल उठाने शुरू कर दिए हैं। जदयू और भाजपा ने राजद पर आरोप लगाया है कि राजद की हमेशा से बाहुबलियों और अपराधियों को ही टिकट देने की प्रवृत्ति रही है। इससे उसका दोहरा चरित्र और उसकी चाल सबके सामने आ गई है। ऐसे में राजद ने भी पलटवार करते हुए कहा है कि यही अनंत सिंह जब एनडीए में थे तो वे गंगा और हरिश्चंद्र की तरह एकदम पवित्र हुआ करते थे, लेकिन अब राजद के साथ हो गए तो वे अपराधी और बाहुबली हो गए हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *