पूर्व केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद अपनी मां के साथ। बिमला प्रसाद को श्रद्धासुमन अर्पित करते हुये मुख्यमंत्री नीतीश कुमार। अभी तक इनके अकाउंट में पैसा जा रहा है, ये व्यवस्था के गले होने का सबूत नहीं तो और क्या है। Image Source : Live Bihar/Vishal kumar/twitter

पूर्व केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद, नितिन नवीन की दिवंगत मां को भी हर माह पेंशन दे रहा विधानसभा

Patna : बिहार में मौजूदा विधायक और मंत्री तो मालामाल हैं हीं, जो रिटायर हो चुके हैं उनके आश्रितों को भी खूब पेंशन मिल रहा है। आश्चर्य की बात यह है कि कई पूर्व विधायकों के दिवंगत हो चुके आश्रितों को भी पेंशन दिया जा रहा है। बिहार विधानसभा हर माह पेंशन ट्रांसफर कर दे रहा है। दैनिक भास्कर की एक रिपोर्ट के मुताबिक पूर्व केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद की मां और बिहार सरकार में मंत्री नितिन नवीन की मां के नाम पर भी पेंशन जारी हो रहा है, जबकि दोनों दिवंगत हो चुकी हैं। रविशंकर प्रसाद की मां विमला देवी का निधन 25 दिसंबर 2020 को हो गया, लेकिन विधानसभा कार्यालय के मुताबिक अभी भी उनके नाम पर पेंशन जारी की जा रही है, जो उन्हें अपने पति ठाकुर प्रसाद के आश्रित के तौर पर मिल रही है। अब भी उनके खाते में पेंशन के तौर पर 30 हजार 750 रुपये भेजे जा रहे हैं।
इसी तरह सड़क निर्माण मंत्री नितिन नवीन की मां मीरा प्रसाद को उनके पति नवीन किशोर सिन्हा के आश्रित के तौर पर 62 हजार रुपये प्रतिमाह पेंशन दी जा रही है, जबकि मीरा प्रसाद की 30 मार्च 2021 को मृत्यु हो चुकी है। प्रदेश में कुल 991 पूर्व विधायक हैं, जिनके बैंक खातों में सरकारी खजाने से प्रतिमाह पेंशन के रूप में 4 करोड़ 94 लाख 44 हजार रुपये की राशि ट्रांसफर की जा रही है। पिछले वित्तीय वर्ष 2020-21 में पेंशन मद में 60 करोड़ 72 लाख 90 हजार रुपये खर्च किये गये हैं।

पथ निर्माण मंत्री नितिन नबीन अपनी मां के साथ। उनके दिवंगत हुये इतने माह बीत गये फिर भी उनको पेंशन दिया जा रहा है।

बिहार विधानसभा सचिवालय की ओर से उपलब्ध कराये गये 55 पन्नों के आंकड़ों के मुताबिक 12 दिग्गज ऐसे हैं जिन्हें 1 लाख से 1.5 लाख रुपये तक पेंशन दी जा रही है। 254 पूर्व विधायकों को 50 हजार से 75 हजार की सहायता दी जा रही है। महावीर चौधरी की पत्नी वीणा देवी के बैंक खाते में परिवार पेंशन के तौर पर हर महीने 1,09,500 रुपये भेजे जा रहे हैं। यह जानकारी विधानसभा की ओर से जाने-माने आरटीआई कार्यकर्ता शिवप्रकाश राय द्वारा पूछे गये सवालों के जवाब में दी गई है।
पेंशनभोगियों की सूची लंबी है। इनमें कई प्रसिद्ध किंवदंतियां भी हैं। उदाहरण के लिये पूर्व मुख्यमंत्री लालू प्रसाद 89 हजार रुपये, रामधनी सिंह को 98 हजार रुपये, जवाहर प्रसाद को 92 हजार रुपये, रामजीवन सिंह को 80 हजार रुपये, दसाई चौधरी को 75 हजार रुपये पेंशन मिलती है।
इसी प्रकार राम विनोद पासवान को 92 हजार रुपये, अशोक कुमार सिंह को 86 हजार रुपये, रामचंद्र राय को 92 हजार रुपये पेंशन के रूप में मिलते हैं। पारिवारिक पेंशन के रूप में भोला सिंह की पत्नी सावित्री देवी को 87 हजार रुपये, बालेश्वर राम की पत्नी चिंता देवी को 78 हजार रुपये, शंकर प्रसाद टेकरीवाल की पत्नी गायत्री देवी को 75,750 रुपये, मालती देवी को 82 हजार 250 रुपये की पेंशन दी गई।
पूर्व मंत्री वीणा शाही को 56 हजार रुपये पेंशन मिल रही है। इसके अलावा पूर्व विधायक हेमंत शाही की पारिवारिक पेंशन के रूप में उन्हें प्रति माह 26,250 रुपये दिये जा रहे हैं। पूर्व मंत्री प्रो.सुखदा पांडेय को भी परिवार पेंशन के तहत 62 हजार रुपये प्रतिमाह की राशि दी जा रही है। बिहार विधानसभा सचिवालय द्वारा आरटीआई कार्यकर्ता शिवप्रकाश राय को दी गई जानकारी के अनुसार, डेढ़ दर्जन दिवंगत राजनेता ऐसे हैं जिनकी पारिवारिक पेंशन 70 हजार रुपये से एक लाख रुपये के बीच है और उनकी पत्नियों को इसका लाभ मिल रहा है। शकील अहमद खान की पारिवारिक पेंशन 62,250 रुपये उनकी पत्नी तमन्ना शकील को दी जा रही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *