CM का नकली काम्युनिटी किचेन का वर्चुअल टूर : छोटे कमरे में वीडियो शूट कर अफसरों ने बताया- ठीक है!

New Delhi : बिहार में कोरोना आपदा के बीच सरकार की हर कोशिश और प्रयास पर किसी न किसी विवाद की छाया पड़ जा रही है। मुख्यमंत्री के कम्युनिटी किचेन के वर्चुअल टूर ने भी इसी तरह के विवादों को जन्म दे दिया है। मंगलवार को एक वीडियो वायरल हुआ था, जिसमें एक अफसर काम्युनिटी किचेन में खानेवालों को समझा रहे थे कि मुख्यमंत्री जब आपसे पूछेंगे कि क्या, कैसा है तो कहना सबकुछ बहुत बढ़िया है। सारी व्यवस्था दुरुस्त है। आज फिर एक नया वीडियो सामने आ गया है। इस वीडियो को एक छोटे से कमरे में शूट किया जा रहा है, जिसमें काम्युनिटी किचेन में लगे टेबल पर लोग खाना खा रहे हैं। टेबल क्लॉथ बिछा है। उन्हें समझाया जा रहा है कि क्या करना है और क्या नहीं। सबकुछ बहुत ही दर्शनीय। अब राजद नेता तेजस्वी यादव ने इस वीडियो को ट‍्वीट कर बिहार सरकार की कार्यशैली पर सवाल उठाये हैं।

इन विवादों से एकबात तो स्पष्ट हो गया है कि शासन कभी भी वर्चुअल सिस्टम से नहीं चल सकता है। इसके लिये सरकार का सड़क पर उतरना जरूरी है नहीं तो अफसरशाही लोगों को कहीं का नहीं छोड़ेगी और शासक को सबकुछ बढ़िया ही नजर आयेगा। बहरहाल, राजद नेता तेजस्वी यादव ने ट‍्वीट किया है- CM नीतीश जी और उनके अधिकारी कैसे बिहारवासियों की आँखों में धूल झोंक रहे हैं? कल CM जब एक सामुदायिक किचन का कथित वर्चुअल टूर कर रहे थे तब अंदर एक छोटी सी जगह चंद लोगों को बैठाकर वीडियो शूट कराया गया। उसी समय बाहर और उसके बाद शाम का मंजर खुद video में देखिए। और हाँ लानत नहीं भेजना।
इस वीडियो को देखकर साफ पता चलता है कि वर्चुअल टूर को अफसरों ने बनावटी टूर बना दिया है। वास्तविक स्थिति से कोसो दूर। आश्चर्य तो यह है कि राजनीति के इतने अनुभवी खिलाड़ी और पिछले सोलह साल से बिहार के सीएम नीतीश कुमार इस पर विश्वास भी कर लेते हैं। सबसे बड़ा सवाल तो यह है कि क्या सीएम नीतीश कुमार को वास्तव में नहीं पता है कि बिहार में लोग कैसे और किस तरह रह रहे हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *