Image Source : agencies

वानखेड़े को आर्यन खान केस से हटाया गया, मलिक बोले- अब उसकी नापाक निजी सेना बेनकाब होगी

New Delhi : नॉकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो के जोनल डायरेक्टर समीर वानखेड़े को आर्यन खान ड्रग्स मामले समेत छह अन्य मामलों की जांच से बाहर कर दिया गया है। जबरन वसूली के आरोपों और बॉलीवुड स्टार शाहरुख खान के बेटे से जुड़े मामले से जुड़े 8 करोड़ भुगतान के आरोपों के बीच उन्हें इन मामलों से हटा दिया गया है।
ओडिशा कैडर के 1996 बैच के वरिष्ठ पुलिस अधिकारी संजय सिंह के नेतृत्व में एक एसआईटी आर्यन खान मामले को संभालेंगी। साथ ही महाराष्ट्र के मंत्री नवाब मलिक के दामाद से जुड़े एक अन्य मामले को भी देखेगी। नवाब मलिक ने इस कार्रवाई के बाद कहा- यह तो भी शुरुआत है, आगे-आगे देखिये होता है क्या?

 

नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो ने कल शाम जारी एक बयान में जोर देकर कहा है- किसी भी अधिकारी को उनकी वर्तमान भूमिकाओं से हटाया नहीं गया है। जैसे ही खबर आई कि मामलों को स्थानांतरित किया जा रहा है, वानखेड़े ने मीडिया से कहा- मुझे कहीं से भी नहीं हटाया गया है। मुझे जांच से नहीं हटाया गया है। बॉम्बे हाईकोर्ट में यह मेरी रिट याचिका थी कि मामले की सीबीआई या एनआईए जैसी केंद्रीय एजेंसी द्वारा जांच की जाये। उसके आधार पर एसआईटी का गठन किया गया है।
आर्यन खान मामले में एनसीबी के गवाह प्रभाकर सेल और राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी के वरिष्ठ नेता नवाब मलिक के आरोपों के बाद समीर वानखेड़े बुरी तरह से घिरे हुये हैं। इन आरोपों के बाद इन मामलों की जांच उनके द्वारा किये जाने से एनसीबी की मंशा पर भी सवाल खड़े कर रही थी।
हालांकि एजेंसी ने उप महानिदेशक ज्ञानेश्वर सिंह के नेतृत्व में पांच सदस्यीय दल ने एक आंतरिक जांच भी शुरू की, लेकिन उनका तौर तरीका समझ से परे रहा। टीम ने पिछले सप्ताह मुंबई का दौरा किया और वानखेड़े के बयान को दर्ज किया लेकिन प्रभाकर सेल से बात किये बिना चले गये।
प्रभाकर सेल ने आर्यन खान केस में आरोप लगाया था कि केपी गोसावी के जरिये 18 करोड़ की डील हुई थी। इसमें से 8 करोड़ वानखेड़े के लिये थे। वैसे इसी केस में एनसीबी ने अपने स्वयं के एक हलफनामे के साथ पलटवार किया जिसमें कहा गया था कि “एजेंसी की छवि खराब करने” के लिये आरोप लगाये जा रहे हैं। वानखेड़े ने सभी जबरन वसूली और भुगतान के आरोपों से इनकार किया।

इस मामले में शनिवार की सुबह महाराष्ट्र के मंत्री नवाब मलिक ने ट‍्वीट किया- मैंने आर्यन खान से अपहरण और फिरौती की मांग के सिलसिले में समीर दाऊद वानखेड़े की जांच के लिये एसआईटी जांच की मांग की थी। अब 2 एसआईटी (राज्य और केंद्र) का गठन किया गया है। देखते हैं कौन वानखेड़े की कोठरी से कंकाल निकालता है और उसे और उसकी नापाक निजी सेना को बेनकाब करता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *