भाजपा बोली- बिहार में अपने दम पर बना सकते हैं सरकार, क्या ये नीतीश के लिए संदेश है?

पटना
राजनीति में बयानों के हमेशा सीधे मतलब नहीं होते। अक्सर उनमें बिटविन द लाइंस बहुत कुछ छिपा और ढंका होता है। अब ऐसा ही एक बयान केंद्रीय मंत्री और आरा से बीजेपी सांसद आरके सिंह ने दिया है। आरके सिंह ने कहा है कि भाजपा बिहार में अकेले सरकार बना सकती है और इस बात में कोई शक नहीं है। अब सवाल ये है कि ये बात केवल बात के लिए कही गई है या इसमें नीतीश कुमार और जदयू के लिए कोई संकेत भी छिपा है। बहरहाल राजनीति में भविष्य़वाणियों की कोई जगह नहीं इसलिए इसे आगे होगा तो देखेंगे के तर्ज पर छोड़ते हुए मूल खबर बताते हैं।

असल में आरके सिंह ने बिहार विधानसभा चुनावों के संदर्भ में ये बयान दिया है। हालांकि उन्होंने आगे कहा है कि भाजपा 1996 से जदयू के साथ पार्टनरशिप में हैं और हम इसे तोड़ना नहीं चाहते। आरके सिंह आगे बढ़कर यह भी कह रहे हैं कि जदयू भी इस पार्टनरशिप को तोड़ना नहीं चाहती। उन्होंने कहा कि हम अपने दोस्तों को नहीं छोड़ते हैं।

ये तो हो गया आरके सिंह का पूरा बयान। लेकिन सवाल ये है कि क्या ये बयान इतना सीधा है जितना लगता है। असल में ये किसी से छिपा नहीं कि भाजपा सालों से बिहार में अपनी पार्टी के सीएम के लिए कोशिश कर रही है। लेकिन पहले राजद शासन और बाद में नीतीश शासन में ऐसा मुमकिन नहीं हो पाया। अब इस बार भी नीतीश कुमार का चेहरा ही आगे है। ऐसे में भाजपा के एक राष्ट्रीय नेता का इस बात को रिमाइंड कराना और क्या क्या इशारा कर रहा है, इसे एक आम बिहारी भी अच्छे से समझ रहा है।

वैसे अपने बयान में आरके सिंह एक बात भूल गए। भाजपा और जदयू केवल 1996 से साथ ही नहीं हैं बल्कि 2015 में ये साथ टूट चुका है। तब बिहार में महागठबंधन का प्रयोग हुआ था। नीतीश लालू और कांग्रेस के मेल ने एनडीए को करारी शिकस्त दी थी। ऐसे में बिहार चुनावों से जुड़े इन बयानों पर ध्यान बनाए रखिए। कौन जानता है, किसके मन में क्या खिचड़ी पक रही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *