पूर्व डीजीपी गुप्तेश्वर पांडेय अन्यान्य भूमिकाओं में। Image Source : Facebook

कहां से चले थे, कहां आ गये तुम : आईपीएस, गायक, अभिनेता, नेता और अब कथावाचक

Patna : पूर्व पुलिस महानिदेशक इन दिनों फिर से खबरों में छा गये हैं। इस बार उन्होंने कथावाचक का रूप धारण किया है। कह रहे हैं कि अब उनका मन सिर्फ भगवान में ही रम रहा है। इससे पहले भी उनका मन कई चीजों में रम चुका है। थोड़े दिन बाद ही मोहभंग भी हो जाता है। नौकरी करते हुये एकबार इनको गायक बनने का मन किया। 7 गानों की एक कैसेट भी निकाल दी। गाने लगे। उस समय कहा यह मेरे बचपन का शौक है। फिर कुछ वर्षों के बाद राजनेता बनने का मन करने लगा। वर्ष 2009 में वीआरएस लेकर, फिर चुनावी टिकट न मिलने पर वीआरएस वापस लेकर दोबारा नौकरी करने लगे। वर्ष 2009 में वीआरएस लेने के बाद बोले की गलती हुई, मैंने गलत निर्णय लिया। लेकिन नौकरी से रिटायर होने वाले ही थे कि फिर से नेता बनने की सूझी। पिछले साल वीआरएस ले लिया। जदयू ज्वाइन कर लिया, क्योंकि चुनाव बक्सर से लड़ना था और टिकट का आश्वासन जदयू ने दिया था। पर सफलता नहीं मिली।
अगर उनके जीवन काल को देखें तो हम पायेंगे कि वे अपने करियर के शुरुआती दौर से ही क्षणभंगुर रहे हैं। और हमेशा सुर्खियों में बने रहने के उपाय करते रहते हैं। कभी तालाब में तैरने लगते हैं तो कभी दूध दूहने लगते हैं। आइये डालते हैं उनके व्यक्तितगत जीवन से जुड़े तस्वीरों पर, जो उनके जीवन का सार है।

LIVE BIHAR
गुप्तेश्वर पांडेय की यह तस्वीर तब की है जब वे यूपीएससी क्लीयर करने के बाद लाल बहादुर शास्त्री नेशनल एकेडमी में प्रशिक्षण प्राप्त कर रहे थे। उन्होंने यह तस्वीर अपने फेसबुक पर शेयर की थी। Image Source : Facebook account of Gupteshwar Pandey
यह साल 2002 की बात है। गुप्तेश्वर पांडेय गायक बन बैठे। उन्होंने मां भारती को समर्पित गानों का एक कैसेट लॉन्च कर दिया। इस कैसेट को प्रोड‍्यूस किया था गुलशन कुमार ने। मीडिया में इसका खूब प्रचार हुआ। सारे अखबारों ने प्रमुखता से छापा। न्यूज चैनल्स पर प्रोग्राम बने। पर वही होता है जो मंजूरे खुदा होता है। कैसेट‍्स नहीं बिकी। और उनका गायक का करियर डूब गया। Image Source : Facebook account of Gupteshwar Pandey
हाल के समय में बिग बॉस और गैंग्स ऑफ वासेपुर में अपने एक गाने को लेकर पॉपुलर हुये दीपक ठाकुर ने डीजीपी गुप्तेश्वर पांडेय को रॉबिनहुड बना दिया। उन्होंने इस गाने में अभिनेता बनने का अपना सपना पूरा किया। खूब विवाद हुआ। लेकिन तमाम विवादों के बाद भी गाना नहीं चला। एक पिटे हुये करियर के साथ दीपक ठाकुर ने गुप्तेश्वर पांडेय के अभिनेता बनने के सपने को पूरा तो कर दिया लेकिन FLOP के तमगे के साथ। Image Source : Facebook
पैंट और टीशर्ट पहन कर दूध दूहने की नौटंकी करते पूर्व डीजीपी गुप्तेश्वर पांडेय।Image Source : Facebook account of Gupteshwar Pandey
इस बार बेटे की भूमिका में। अपनी मां से नेता बनने का आशीर्वाद लेते हुये। Image Source : Facebook account of Gupteshwar Pandey
इस बार तालाब में आम ग्रामीण की भूमिका में। Image Source : Facebook account of Gupteshwar Pandey
पिता की भूमिका में। फेसबुक पोस्ट करते हुये उन्होंने कैप्शन दिया- सुबह का व्यायाम अपनी संतान के साथ… Image Source : Facebook Account of Gupteshwar Pandey
भाई की भूमिका का निर्वहन करते हुये। राखी बंधवाते हुये। Image Source : Facebook Account of Gupteshwar Pandey
समाज सेवक की भूमिका निर्वहन करते हुये लॉकडाउन में डिस्टेन्सिंग की सीख देते हुये। उन्होंने इस फोटो को कैप्शन दिया- ये देखिए घर के भीतर भी हम सोशल डिस्टन्सिंग का पालन करते हैं .आप सब भी करें.घर में रहें,सुरक्षित रहें !!
करोना हारेगा ! देश जीतेगा !! Image Source : Facebook Account of Gupteshwar Pandey
राजनेता की भूमिका में। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार जनता दल यूनाइटेड की सदस्यता ग्रहण करते हुये। Image Source : ANI
… और अब कथावाचक की भूमिका का निर्वहन कर रहे हैं। Image Source : Facebook

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *