मुख्यमंत्री नीतीश कुमार वर्चुअल मीटिंग में योजना का शुभारंभ करते हुये। साथ में जीवकोपार्जन से जुड़ी महिला उद्यमियों की फाइल फोटो। Image Source : Photo tweeted by official Id of nitish kumar

उद्योग लगाने के लिये महिला-युवाओं को मिलेंगे 10-10 लाख रुपये, 5 लाख सब्सिडी, 5 लाख का लोन

Patna : बिहार में रोजगार और व्यापार के नये अवसर पैदा करने पर रोज काम हो रहा है। इन्हीं प्रयासों के तहत मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने शुक्रवार को कई योजनाएं शुरू की। विशेषरूप से महिलाओं के लिये। उन्होंने योजनाओं की जानकारी देते हुये ट‍्वीट किया- ‘मुख्यमंत्री महिला उद्यमी योजना’ एवं ‘मुख्यमंत्री युवा उद्यमी योजना’ का शुभारंभ तथा उद्योग विभाग द्वारा तैयार किये गये नये वेब पोर्टल का लोकार्पण किया। इन योजनाओं से महिलाओं एवं युवाओं में उद्यमिता विकास तथा स्वरोजगार को और बढ़ावा मिलेगा। इस योजना में महिला और युवकों को 10-10 लाख रुपये मिलेंगे। इसमें आधी रकम नहीं लौटानी है। शेष 5 लाख रुपये लौटानी होगी। महिलाओं को इसके लिए सूद नहीं देना पड़ेगा।

युवकों को सिर्फ 1% सूद लगेगा। मुख्यमंत्री ने कहा कि इन योजनाओं से महिलाओं एवं युवाओं में स्वरोजगार को और बढ़ावा मिलेगा। 2018 में एससी-एसटी के लिये यह योजना शुरू हुई। पिछले साल मुख्यमंत्री अति पिछड़ा उद्यमी योजना शुरू की गई। अब इस नई योजना से सभी वर्ग की महिलाएं व युवक उद्यमिता की तरफ आकर्षित होंगे। मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य का विकास तभी होगा जब पुरुष के साथ महिलाएं भी काम करेंगी। महिलाओं की भागीदारी बढ़ी है। इससे आर्थिक स्थिति सुढृढ़ हुई है। जिस तत्परता एवं सामंजस्य से काम हो रहा है इससे बिहार में उद्योग बढ़ेगा, तरक्की होगी एवं बिहार विकसित राज्य बनेगा। मुख्यमंत्री ने कहा कोरोना के प्रति सभी को सतर्क एवं सजग रहना है। मुख्यमंत्री ने उद्योग विभाग के नए पोर्टल www.udyami.bihar.gov.in का लोकार्पण भी किया।
मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा कि साल 2005 से जब से हमारी सरकार बनी है तब से महिलाओं के उत्थान के प्रयासरत हैं। हमने पंचायत में महिलाओं को पचास प्रतिशत का आरक्षण दिया। 2006 से जीविका समूह की स्थापना की गई। इस योजना में अभी तक दस लाख से ज्यादा स्वयं सहायता समूह बनाये जा चुके हैं और 1 करोड़ से अधिक महिलाओं को बेनेफिट दिया जा चुका है। लड़कियों को इंजीनियरिंग कॉलेजों, मेडिकल कॉलेजों और स्पोर्टस यूनिवर्सिटी में कम से कम एक तिहाई जगह देने का प्रावधान किया गया है। बालिकाओं के लिये साइकिल योजनाएं शुरू की गईं।
इस प्रोग्राम को उद्योग मंत्री शहनवाज हुसैन ने भी संबोधित किया और कहा कि प्रधानमंत्री के दिशानिर्देशों के तहत युवाओं को उद्यम लगाने, आत्मनिर्भर बनाने की दिशा में तमाम तरह की योजनाओं का संचालन किया जा रहा है। इस वर्चुअल प्रोग्राम में उपमुख्यमंत्री तारकिशोर प्रसाद और रेणु देवी भी जुड़े।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *