योगी आदित्यनाथ की पश्चिम बंगाल चुनाव में प्रचार की फोटो। प्रतीकात्मक। Image Source : posted on facebook/myyogiadityanath

योगी की लहर- 85% प्रखंड प्रमुखों की कुर्सी पर भाजपा का कब्जा, PM की बधाई- आओ करें विकास

New Delhi : उत्तर प्रदेश में भाजपा और योगी आदित्यनाथ का परचम लहरा रहा है। विरोधियों के गुंडई के छिटपुट आरोपों के बीच भारतीय जनता पार्टी ने प्रखंड पंचायत प्रमुख के चुनावों में 85 फीसदी के करीब सीटें जीतकर सारे विपक्षी दलों को चारों खाने चित कर दिया है। राज्य चुनाव आयोग ने कहा कि उत्तर प्रदेश में शनिवार सुबह 11 बजे प्रखंड पंचायत प्रमुखों के 476 पदों पर मतदान शुरू हो गया। मतदान दोपहर तीन बजे तक चला और उसके ठीक बाद मतगणना शुरू हुई। नामांकन पत्र वापस लेने के अंतिम दिन शुक्रवार को प्रखंड पंचायत प्रमुख पदों के लिये कुल 349 उम्मीदवारों का निर्विरोध चुनाव हुआ। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने शांतिपूर्ण चुनाव कराने के लिये स्टेट मशिनरी और चुनाव आयोग को बधाई दी है। साथ ही इन चुनावों में जीतने वाले प्रत्याशियों को शुभकामनाएं भी दी हैं।

वोटों की गिनती अभी भी चल रही है। भाजपा ने अब तक 658 से अधिक ​​सीटों पर जीत हासिल की है। लखनऊ के मोहनलालगंज से भाजपा की जीत। भाजपा के ओमप्रकाश शुक्ला ने समाजवादी पार्टी (सपा) के नवनीत सिंह को हराया।
लखनऊ के गोसाईगंज से भाजपा की जीत। भाजपा के विनय कुमार ने सपा के अनुज यादव को हराया। गाजियाबाद की सभी चार ब्लॉक प्रमुख सीटों पर भाजपा ने जीत हासिल की। लखनऊ के बख्शी के तालाब में भाजपा की उषा सिंह को 87, सपा की रेणु यादव को 13 वोट मिले। बाराबंकी के बिंदुरा प्रखंड में सपा के रामू गुप्ता ने भाजपा के अनूप रावत को 2 मतों से, भाजपा प्रत्याशी को 56 मतों से जबकि सपा को 58 मतों से हराया।
अब तक के परिणामों पर बोलते हुए, मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा- रुझान भारतीय जनता पार्टी को ब्लॉक पंचायत चुनावों में जीतने का संकेत देते हैं। हमने सभी जिलों में ‘सबका विकास, सबका विश्वास’ के मकसद से काम किया। मुख्यमंत्री ने पार्टी कार्यकर्ताओं को भी बधाई दी और लोगों के कल्याण, गांवों के विकास के लिए ईमानदारी से काम करने के लिए धन्यवाद दिया। उन्होंने यह भी कहा कि जनता का जनादेश भाजपा के पक्ष में है।
इससे पहले शुक्रवार को जारी एक बयान में राज्य चुनाव आयुक्त मनोज कुमार ने कहा था कि प्रखंड पंचायत प्रमुख के 825 पदों के लिए 1,778 नामांकन पत्र प्राप्त हुए, जिनमें से 68 रद्द कर दिये गये और 187 वापस ले लिये गये। नतीजतन, शनिवार को चुनाव के लिए 1,710 उम्मीदवार मैदान में थे।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने इसको लेकर प्रेस वार्ता की और अपनी बातें रखते हुये सभी विजयी प्रत्याशियों को बधाई दी। इससे पहले आज सुबह उन्होंने ट‍्वीट किया- आशा है, आज बाबा साहब और लोहिया जी को मानने वाले आवेश या राजनैतिक स्वार्थ की जगह इस बात को स्वीकार करेंगे कि आदरणीय मोदी जी का ‘सबका साथ, सबका विकास, सबका विश्वास’ का मंत्र संविधान की आत्मा को सच्चे अर्थों में चरितार्थ कर रहा है। हम सब इसके लिए प्रधानमंत्री जी के आभारी हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *